yashvantpur express : यशवन्तपुर से दानापुर के लिए स्पेशल ट्रेन 26 अक्टूबर से

0
74

-यशवन्तपुर एक्सप्रेस (yashvantpur express) चलेगी सप्ताह में दो दिन
-रेल संदेश ब्यूरो-
सिकंदराबाद। दीपावली त्योहार के मद्देनजर रेलवे की ओर से लगातार फेस्टिवल स्पेशल रेलगाड़ियां चलाने की घोषणा की जा रही है। इसी क्रम में दक्षिण मध्य रेलवे दानापुर और यशवन्तपुर के बीच द्वि-साप्ताहिक फेस्टिवल स्पेशल रेलगाड़ी (yashvantpur express) चलाने का निर्णय किया है। दानापुर-यशवन्तपुर फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन सप्ताह में दो दिन संचालित की जाएगी। यह ट्रेन (yashvantpur express)पूरी तरह आरक्षित चलेगी। गाड़ी संख्या 03209 दानापुर-यशवन्तपुर एक्सप्रेस 26 अक्टूबर से 28 नवम्बर तक और गाड़ी संख्या 03210 यशवन्तपुर – दानापुर एक्सप्रेस (yashvantpur express) 29 अक्टूबर से 1 दिसम्बर तक संचालित की जाएगी।
ट्रेन नंबर 03209 दानापुर – यशवंतपुर द्वि-साप्ताहिक स्पेशल ट्रेन दानापुर से प्रत्येक सोमवार और शनिवार को शाम 18.10 बजे प्रस्थान करेगी और दूसरे दिन शाम 18.30 बजे यशवंतपुर पहुंचेगी। वापसी की दिशा में, ट्रेन नंबर 03210 यशवंतपुर – दानापुर द्वि-साप्ताहिक स्पेशल ट्रेन यशवंतपुर से प्रत्येक मंगलवार और गुरुवार को सुबह 07.10 बजे प्रस्थान करेगी और दूसरे दिन सुबह 08.00 बजे दानापुर पहुंचेगी। ठहराव: आरा जंक्शन, पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन, प्रयागराज छिकी, सतना, जबलपुर, इटारसी जंक्शन, नागपुर, बल्लाारशाह, वारंगल, विजयवाड़ा, चेन्नई, काटपाडी, जोलारपेट्टई और कृष्णराजपुरम।
पहली बार मक्का लोड: सिकंदराबाद। दक्षिण मध्य रेलवे के विजयवाड़ा मण्डल की बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट रेलवे को एक और नया ट्रैफिक आकर्षित करने में सफल रही। इस मण्डल से पहली बार, मक्का लोडिंग का काम शुरू किया। आंध्र प्रदेश में प्रकाशम जिले के ओंगल से लेकर तमिलनाडु राज्य के सेलम मण्डल में चैदिप्पलायम में मक्का लोड किया गया। तमिलनाडु के सेलम मण्डल के चावडिप्पलयम में भेजे गए 1323 टन वजन वाले 21 बीसीएन वैगन के एक मिनी रेक में मक्का लोड किया गया है। परंपरागत रूप से, इस यातायात का उपयोग सड़क मार्ग से किया जाता था। हालांकि, विजयवाड़ा मण्डल बीडीयू टीम रेलवे द्वारा अपने परिवहन को बदलने के लिए ग्राहकों को समझाने में सफल रही है। बीडीयू टीम और रेलवे के विभिन्न विभागों द्वारा प्रदान किए जा रहे समर्थन के साथ व्यापारियों को राजी किया जाता है और भविष्य में रेल द्वारा उनकी खेप परिवहन करने का वादा किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here