Wait List- पांच साल में दो रूट होंगे वेटलिस्ट से मुक्त

Waitlist

दिल्ली-मुंबई और दिल्ली-कोलकाता रूट पर प्रतीक्षा सूची (Wait List) नहीं
-श्याम मारू-
नई दिल्ली।
रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने सोमवार को कहा कि दिल्ली-मुंबई और दिल्ली-कोलकाता मार्गों पर चलने वाली ट्रेनों को अगले पांच वर्षों में प्रतीक्षा सूची (Wait List) टिकटों से मुक्त किया जाएगा। यादव ने एक पत्रकार वार्ता में कहा कि रेलवे अगले 10 वर्षों में लगभग 2.6 लाख करोड़ रुपए की अनुमानित लागत वाले तीन अतिरिक्त माल ढुलाई गलियारों पर काम कर रहा है जिससे रेलवे को पर्याप्त रेलगाडिय़ां चलाने के लिए मौजूदा मार्गों को प्रतीक्षा सूची (Wait List) से मुक्त करने में मदद मिलेगी और किसी भी यात्री को प्रतीक्षा सूची (Wait List) टिकट नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा, 160 किमी प्रति घंटे के मार्ग पर (ट्रेन की गति) को अद्यतन करने का काम पहले ही स्वीकृत हो चुका है और अगले चार वर्षों में इसे पूरा किया जाएगा।
यादव ने कहा कि यात्री ट्रेनों की औसत गति में 60 प्रतिशत की वृद्धि को मंजूरी दी गई है। दिल्ली-मुंबई व दिल्ली-हावड़ा दो मार्गों पर 5 सालों में यात्री प्रतीक्षा सूची से मुक्त होने की उम्मीद कर सकते हैं, जहां समर्पित माल ढुलाई गलियारे पर काम चल रहा है और इसके 2021 तक पूरा होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि 2019-20 में 194 रेलगाडिय़ों को उत्कृष्ट मानक में अपग्रेड किया गया है, और अप्रेल-अक्टूबर 2019 के बीच 78 नई ट्रेन सेवाएं शुरू की गई हैं। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि अप्रैल-नवम्बर 2019 से 11,703 डिब्बों में 38,331 जैव शौचालय लगाए गए हैं जिससे जैव शौचालयों की कुल संख्या 65,627 डिब्बों में 2,34,248 हो गई है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली-मुंबई और दिल्ली-कोलकाता मार्गों पर चलने वाली ट्रेनों में जबरदस्त प्रतीक्षा सूची रहती है। आररक्षण खुलते ही एक दो दिन में सभी टिकटे बुक हो जाती है और कन्फर्म टिकट नहीं मिलती। ऐसे में रेलवे का यह निर्णय यात्रियों को काफी राहत दिलाएगा।