train hospital: कोच बनेंगे आइसोलेशन व आईसीयू वार्ड

0
35

-ट्रेन अस्पताल (train hospital) के लिए कोच होंगे मोडीफाई
-परामर्श कक्ष, चिकित्सक कक्ष, मेडिकल स्टोर, रसोईयान की सुविधा
-श्याम मारू-
नई दिल्ली।
कोरोना वायरस(corona virus) के प्रसार को रेाकने के लिए समूचे भारत में अभियान चल रहा है। पूरे देश में लाॅक डाउन है। अब त पूरे देश में 649 से ज्यादा कोरोना वायरस कोविड19(covid19) से संक्रमित लोगों का पता चला है। देश में अस्पतालों की कमी पड़ रही है। ऐसे में भारतीय रेलवे इस समस्या के समाधन के लिए रेलगाड़ियों को ट्रेन अस्पताल (train hospital) में बदलने की सम्भावना पर विचार कर रहा है। ट्रेन अस्पताल (train hospital) थीम में रेलगाड़ियों के खाली डिब्बों को मरीजों के लिए आईसीयू के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इस बारे में आज रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने सभी जोन के महाप्रबंधकों से वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से चर्चा की। बैठक में इस बात पर चर्चा की गई कि क्यों न रेलगाड़ियों को चलती-फिरती ट्रेन अस्पताल (train hospital) के रूप में इस्तेमाल किया जाए। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि प्रथम श्रेणी व द्वितीय श्रेणी वातानुकूलित कोच के केबिनों को ट्रेन अस्पताल बनाए जाने की सम्भावनाओं पर काम किया जाए। ऐसे ट्रेन अस्पताल में परामर्श कक्ष, चिकित्सक कक्ष, मेडिकल स्टोर, गहन चिकित्सा कक्ष, रसोईयान की सुविधा होगी। शौचालय युक्त डिब्बों को पृथक वार्ड बनाया जा सकता है।

कपूरथला व चेन्नई को सौंपा काम

उन्होंने बताया कि रेल डिब्बा उत्पादन इकाइयां चिकित्सा सुविधा के अनुकूल डिब्बों में बदलाव कर उत्पादन शुरू कर सकती है। साथ ही रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने रेलवे की उत्पादन इकाइयों के महाप्रबंधकों इस बात की सम्भावना पर मंथन करने को कहा कि जरूरी उपकरण जैसे जीवन रक्षक प्रणाली, बिस्तर, ट्राॅली, मेडिकल उपकरण आदि के निर्माण में रेलवे कैसे सहयोग कर सकता है। यह विचार प्रधानमंत्री के इस आहवान के बाद आया कि देश में चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार के लिए नवोन्मेषी उपायों पर काम करें। इसके बाद रेलवे ने कपूरथला स्थित रेल कोच फैक्ट्री (rcf]kapurthala)) को एलएचबी कोच (lhb coach) को आईसोलेशन वार्ड में बदलने और चेन्नई स्थितइंटीग्रल कोच फैक्ट्री (icf,chennai) को वेंटीलेटर बनाने का काम सौंपा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here