चार ट्रेन रद्द (4 train cancle)

0
15

जयपुर। चित्तौड़गढ और शम्भुपुरा रेलखण्डों के मध्य अनुरक्षण कार्य यानि मैंटीनेंस कार्य के कारण रेल यातायात प्रभावित रहेगा। इसके लिए रेलवे की ओर से चार ट्रेन रद्द (4 train cancle) की गई है। उत्तर पश्चिम रेलवे की ओर से जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि 18 से 20 मार्च तक ये चार ट्रेन रद्द (4 train cancle) रहेंगी। साथ ही एक रेलगाड़ी को आंशिकरूप से रद्द किया गया है। 21 मार्च से यातायात सुचारू होने की उम्मीद है।

ये हैं रद्द रेलगाडियां

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी अभय शर्मा के अनुसार उपरोक्त कार्य के कारण चार रेल सेवाएं पूूूूरी तरह से रद्द की गई है।
1.गाड़ी संख्या 59835, मंदसौर-उदयपुर सवारी गाड़ी 18 मार्च एवं 19 मार्च 2019 को रद्द रहेगी।
2.गाड़ी संख्या 59836, उदयपुर- मंदसौर सवारी गाडी 18 मार्च एवं 19 मार्च 2019 को रद्द रहेगी।
3.गाड़ी संख्या 19327, रतलाम-उदयपुर एक्सप्रेस 17 मार्च सें 19 मार्च 2019 तक रद्द रहेगी। 4गाड़ी संख्या 19328, उदयपुर-रतलाम एक्सप्रेस 18 मार्च सें 20 मार्च 2019 तक रद्द रहेगी।

रतलाम-भीलवाडा एक्सप्रेस निम्बाहेड़ा स्टेशन तक

गाड़ी संख्या 79301/79302, रतलाम-भीलवाडा-रतलाम एक्सप्रेस निम्बाहेड़ा स्टेशन तक ही आएगी व जाएगी। अनुरक्षण कार्य के कारण यह रेलगाड़ी 18 व 19 मार्च को रतलाम से निम्बाहेडा स्टेशन के बीच ही चलाई जाएगी। अर्थात यह रेलसेवा निम्बाहेडा और भीलवाड स्टेशनों के मध्य आंशिक रद्द रहेगी।

गोरखपुर-हिसार एक्सप्रेस में एलएचबी कोच

रेलवे प्रशासन की ओर से यात्रियों की सुविधा के लिए गोरखपुर-हिसार-गोरखपुर गोरखधाम एक्सप्रेस में एलएचबी कोच लगाए जा रहे है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी अभय शर्मा के अनुसार गाडी संख्या 12555/12556, गोरखपुर-हिसार-गोरखपुर गोरखधाम एक्सप्रेस में गोरखपुर से 16 मार्च से एव ं हिसार से 17 मार्च 2019 से एलएचबी कोच लगाये जा रहे है। इस गाडी में 01 फस्र्ट मय सैकण्ड एसी, 01 सैकण्ड एसी, 03 थर्ड एसी, 08 द्वितीय शयनयान श्रेणी, 02 द्वितीय कुर्सीयान, 05 साधारण श्रेणी तथा 02 पाॅवरकार सहित कुल 22 डिब्बें होगें। उपरोक्त रेलसेवा के 03 रैक संचालित होते है, अब इस रेलसेवा के सभी 03 रैक एलएचबी रैक में परिवर्तित कर दिये गये है। एलएचबी कोच में ज्यादा बर्थ हैं और आरामदायक भी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here