rail concession : इन कैटेगरी के यात्रियों को भी मिलती है रेल किराए में छूट

rail concession

-जानें रेल किराए में छूट (rail concession) की सभी श्रेणियां
-रेल संदेश डेस्क-
बीकानेर। भारतीय रेलवे यात्रा के दौरान रेल किराए में छूट (rail concession) देता है। यह रेल रियायत (rail concession) कई श्रेणियों के यात्रियों को मिलती है। अब तक लोगों को मालूम है कि सिर्फ सीनियर सिटीजन और दिव्यांग कैटेगरी के लोगों को ही ट्रेन के किराए में छूट मिलती होगी, लेकिन ऐसा नहीं है. करीब 50 से ज्यादा ऐसी कैटेगरी हैं, जिसमें भी किराए में छूट (rail concession) दी जाती है।

इन लोगों को भी रेलवे देता है छूट

rail concession 01

-शारीरिक रूप से दिव्यांग व्यक्ति को अपने साथ एक शख्स को ले जाने की इजाजत होती है और उन्हें थर्ड एसी, चेयरकार, शयनयान और सैकेंड क्लास में 75 फीसदी, फर्स्ट एसी और सैकेंड एसी में 50ः, राजधानी/शताब्दी गाड़ियों की 3 एसी और चेयरकार में 25ः की छूट होती है।
-इलाज के लिए जा रहे कैंसर रोगी और एक अटेंडेंट को सैकेंड क्लास, प्रथम श्रेणी, चेयरकार में 75ः, शयनयान और थर्ड एसी में 100ः, फर्स्ट एसी और सैकेंड एसी में 50ः की छूट मिलती है। वहीं, थैलीसीमिया रोगियों को सैकेंड क्लास, शयनयान, प्रथम श्रेणी, थर्ड एसी, चेयरकार में 75ः, फर्स्ट एसी और सैकेंड एसी में 50ः की छूट मिलती है।
-इसके अलावा हार्ट सर्जरी, डायलेसिस, हैमोफीलिया, टीबी के मरीजों को सैकेंड क्लास, शयनयान, प्रथम श्रेणी, थर्ड एसी, चेयरकार में 75ः की छूट मिलती है। इसके अलावा एड्स, कुष्ठ, ऑस्टोमी, सिकल सैल अनीमिया रोगियों को भी 50 फीसदी तक छूट मिलती है।
-सभी 60 साल से अधिक पुरुष और 58 साल से अधिक की महिलाओं को सभी कैटेगरी में 40ः की छूट मिलती है। साथ ही ये छूट राजधानी, शताब्दी, दुरंतों गाड़ी में भी लागू रहती हैं।

rail concession 02

-युद्ध शहीदों की वीरांगनाओं, आतंकवादियों और उग्रवादियों के विरुद्ध कार्रवाई में शहीद हुए पुलिस कर्मियों और अर्द्धसेना कार्मिकों की वीरांगनाओं, आतंकवादियों और उग्रवादियों के विरुद्ध कार्रवाई में शहीद हुए पुलिस कर्मियों और अर्द्धसेना कार्मिकों की वीरांगनाओं, श्रीलंका में कार्रवाई के दौरान शहीद हुए आईपीकेएफ कार्मिकों की वीरांगनाओं, आतंकवादियों और उग्रवादियों के विरुद्ध कार्रवाई में मारे गए सैन्य कार्मिकों की वीरांगनाओं और 1999 में कारगिल में ऑपरेशन विजय के शहीदों की वीरांगनाओं, को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 75ः की छूट मिलती है।
-हॉम टाउन या एजुकेशन ट्यूर पर जाने वाले जनरल कैटेगरी के स्टूडेंट्स को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 50ः, एससी- एसटी कैटेगरी के स्टूडेंट्स को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 75ः छूट मिलती है।
-वहीं, ग्रेजुएट तक लड़कियों और 12 वीं कक्षा तक लड़के (मदरसा के छात्रों सहित) घर और स्कूल के बीच को फ्री सैकेंड क्लास एमएसटी।
-इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी स्कूलों के छात्रों को साल में एक बार एजुकेशन ट्यूर के लिए दूसरे दर्जे में 75ः, मेडिकल, इंजीनियरी आदि प्रवेश परीक्षा के लिए जाने वाली ग्रामीण क्षेत्रों की सरकारी स्कूलों की लड़कियों को दूसरे दर्जे में 75ः, यूपीएससी, एसएससी की मेंस परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स को दूसरे दर्जे में 50ः, रिसर्च वर्क के लिए जाने वाले 35 साल तक के रिसर्चर्स को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 50ः की छूट मिलती है।

rail concession 03

-राष्ट्रीय युवा परियोजना, मानव उत्थान सेवा समिति के शिविर में हिस्सा लेने के लिए जाने वाले युवाओं को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 50ः, सार्वजनिक क्षेत्र की नौकरी में इंटरव्यू के लिए जाने वाले बेरोजगार युवाओं को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 50ः छूट मिलती है।
-स्काउटिंग ड्यूटी के लिए भारत स्काउट एवं गाइड्स के युवाओं को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 50ः की छूट मिलती है।
-कृषि/औद्योगिक प्रदर्शनियों में जाने के लिए किसान और औद्योगिक श्रमिक को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 25ः, सरकार द्वारा प्रायोजित विशेष गाड़ियों में यात्रा करने वाले किसानों को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 33ः, बेहतर फार्मिंग/डेयरी अध्ययन/ प्रशिक्षण के लिए राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों का दौरा करने के लिए किसान एवं दुग्ध उत्पादकों को सैकेंड क्लास और शयनयान श्रेणी में 50ः की छूट मिलती है।