वतन वापसी को तरसते रूस में फंसे राजस्थान के 179 विद्यार्थी

0
9

– एयरलिफ्ट करने की मांग को लेकर तीन मंत्रियों का भेजा पत्र
बीकानेर। जन जागृतिमंच, श्रीडूंगरगढ के अध्यक्ष तोलाराम मारू ने रूस के केमोरोव में फंसे 179 राजस्थान के विद्यार्थियों को स्वदेश बुलाने की मांगकी है। मारू ने नागरिक विमानन मत्री हरदीप सिंह, केन्द्रीय राज्य मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत और बीकानेर के सांसद व मंत्री अर्जुनराम मेघवाल को अलग-अलग पत्र लिखकर पूरे राजस्थान के रूस में फंसे विद्यार्थियों का ब्यौरा देते हुए उन्हें एयर लिफ्ट करवाने का आग्रह किया है। पत्र में तोलाराम ने बताया कि जयपुर, जोधपुर, पाली, नागौर, अजमेर, बाड़मेर, हनुमानगढ़ और बीकानेर जिले के बड़ी संख्या में विद्यार्थी एमबीबीएस की पढ़ाई करने रूस के केमरोवा में गए थे। इन दिनों चल रहे कोरोना संकट के कारण वहां मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में उनके जीवन को खतरा है। मारू ने बताया कि केन्द्र सरकार ने वन्दे भारत मिशन चला रखा है। इस मिशन के तहत राजस्थान के विद्यार्थियों को भी स्वदेश लाने की व्यवस्था की जाए ताकि उनके अभिभावकों को राहत मिल सके। मारू ने बताया कि ये विद्यार्थी वहां की एम्बेसी में अपना पंजीयन भी करवा चुके हैं। केमेरोव की मेडिकल यूनिवर्सिटी में अध्ययनरत इन विद्यार्थियों को लाने के लिए मास्को के बजाय नजदीकी इंटरनेशनल एयरपोर्ट नोवोसिबिस्र्क विमान भेजा जा सकता है। मारू ने बताया कि विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को लेकर इनके माता-पिता काफी चिंतित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here