rpf : आरपीएफ ने लौटाया पर्स और कीमती सामान

-रेल संदेश डेस्क-
बीकानेर। उत्तर पश्चिम रेलवे यात्रियों की सुरक्षा के लिये सदैव प्रयासरत् रहता है और रेलवे सुरक्षा बल (rpf)  द्वारा यात्री सुरक्षा को प्राथमिकता पर रखा जाता है। रेलवे सुरक्षा बल (rpf) पूर्ण सजगता और मुस्तैदी के साथ कार्य कर लावारिस हाल में मिले बच्चो को चाइल्ड हेल्प लाईन तक पहुॅचाने के साथ ही यात्रियों तथा उनके सामान की सुरक्षा सुनिश्चित कर रहा है। आरपीएफ (rpf)  के जवानों ने इसी नवम्बर माह में लगभग आधा दर्जन लोगों की सहायता की है। पिछले एक सप्ताह में दो बच्चों को चाइल्ड हेल्प लाइन पहुंचाया तो महिला का पर्स और मोबाइल लौटाकर ईमानदारी के साथ-कर्तव्यपरायणता का परिचय दिया है।

rpf01
उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण के अनुसार रेलवे सुरक्षा बल की सजगता से भीलवाडा स्टेशन पर 8 नवम्बर 2021 को सवारी गाड़ी संख्या 02995, के आगमन पर प्लेटफार्म नम्बर एक पर एक नाबालिक लड़के को रोता हुआ पाकर उसे चाइल्ड हेल्प लाइन, भीलवाड़ा के सुपर्दु किया गया इसके दो दिन बाद 10 नवम्बर को उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन बुकिंग हॉल में एक बालक लावारिस हालत में मिला, जिसे चाइल्ड हेल्प लाईन उदयपुर को सुपुर्द किया गया।
इसी प्रकार 05 नवम्बर 2021 को गाड़ी संख्या 02093 (पुरी-जोधपुर स्पेशल) में एक लेडीज पर्स, जिसमें महिला का सोने का मंगलसूत्र, 02 मोबाइल, एटीएम कार्ड एवं अन्य कीमती सामान इत्यादि थे। यह पर्स मिलने पर रेलवे सुरक्षा बल, जोधपुर की ओर से सम्बंधित यात्री को सुपुर्द किया गया। गत 06 नवम्बर 2021 को सवारी गाडी संख्या 02995, बान्द्रा टर्मिनस-अजमेर स्पेशल एक्सप्रेस में एक यात्री का सूटकेस गाडी में छूट गया। रेलवे सुरक्षा बल स्टॉफ अजमेर मण्डल ने इस सूटकेस को सम्बंधित यात्री तक पहुंचाया।