RFID Tag : अब रेलगाडिय़ों पर लगेंगे आरएफआईडी टैग

0
57

-वर्ष 2021 तक सभी यात्री कोचों और मालगाड़ी के डिब्बों पर आरएफआईडी (RFID Tag ) टैग लगेंगे
– आरएफआईडी टैग (RFID Tag ) परियोजना पर करीब 112 करोड़ रुपए की लागत आएगी
नई दिल्ली।
रेलवे के करीब 3,50,000 यात्री कोचों और मालगाड़ी के डिब्बों पर 2021 तक आरएफआईडी टैग (RFID Tag ) लगाए जाएंगे और इन पर निगरानी रखी जा सकेगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि आरएफआईडी टैग (RFID Tag ) परियोजना पर करीब 112 करोड़ रुपए की लागत आएगी। रेलवे बोर्ड के रॉलिंग स्टॉक के सदस्य राजेश अग्रवाल ने कहा कि अभी तक मालगाड़ी के करीब 22 हजार डिब्बों और यात्री ट्रेनों के 1200 कोचों पर रेडियो आवृत्ति पहचान (आरएफआईडी) टैग लगाए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि तकरीबन 3500 स्थिर आरएफआईडी रीडर लगाए जाने की संभावना है जो जीएस। बारकोड के एलएलआरपी मानक का इस्तेमाल करते हुए एक केंद्रीय नियंत्रण केंद्र को आंकड़े भेजेंगे। अग्रवाल ने कहा कि भारतीय रेलवे की सूचना प्रौद्योगिकी इकाई क्रिस द्वारा संचालित उक्त परियोजना में ट्रेन की रफ्तार 182 किलोमीटर होने पर भी डेटा पढ़ा जा सकता है। यह तकनीक रेलवे को प्रत्येक यात्री डिब्बे और मालगाडय़िों के डिब्बों पर नजर रखने में मदद प्रदान करेगी। उन्होंने कहा, आरएफआईडी टैग (RFID Tag ) केवल कोच नंबर ही नहीं बल्कि इसके इतिहास समेत आदि सभी जानकारी भी मुहैया कराएगा। इससे नेटवर्क की दिक्कतें कम होंगी, कनेक्टिविटी की समस्या समाप्त होगी और संसाधनों का बेहतर दोहन किया जा सकेगा। अग्रवाल ने कहा, 2021 तक मालगाडय़िों और यात्री ट्रेनों के सभी डिब्बे आरएफआईडी से टैग होंगे। आरएफआईडी टैग परियोजना पर करीब 112 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इसकी विस्तृत परियोजना तैयार की जा रही है। तेज गति होने पर भी इस टैग की मदद से रेलगाडिय़ों की परिस्थिति के बारे में पता लगाया जा सकेगा। रेलवे में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने और रेल संचालन सुगम बनाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। यह परियोजना इसी का एक हिस्सा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here