Refund-रद्द यात्रा से 45 दिन में प्राप्त करें रिफण्ड

-रेलवे ने दी रिफण्ड (Refund) नियमों में ढील
-नई रिफण्ड (Refund) व्यवस्था अस्थायी
नई दिल्ली
। कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए रेलवे की ओर से रद्द रेलगाड़ियों या स्वयं यात्रा कैंसल करने वाले लोगों को रेलवे ने राहत प्रदान करने की कोशिश की है। रेलवे की ओर से शनिवार को जारी परामर्श में कहा गया है कि 21 मार्च से 15 अप्रेल के बीच बुक करवाए टिकटों के कैंसल होने पर रिफण्ड (Refund) के नियमों में ढील दी जाएगी। रेलवे की ओर से जारी आदेश में कहा गया हे कि रेलवे की ओर से 21 मार्च से 15 अप्रेल के बीच यदि कोई ट्रेन रद्द की जाती है तो यात्रा की तारीख से 45 दिन पहले तक आरक्षण कार्यालय पर टिकट दिखाकर भाडा वापस लिया जा सकता हैै। रेलवे की ओर से दी जा रही यह राहत बड़ी मानी जा रही हैै। क्योंकि वर्तमान में यह समय सीमा तीन घंटे की है। रेलवे की ओर से रेलगाड़ी रद्द नहीं किए जाने की स्थिति और यात्री द्वारा खुद ही यात्रा कैंसल करने की स्थिति में यात्राकी तारीख से 30 दिन पहले तक टिकट जमा रसीद यानी टीडीआर जमा करवाकर रिफण्ड (Refund) लिया जा सकता है। वर्तमान में यह समय सीमा 3 दिन की है।

टीडीआर जमा करवाने के बाद 60 दिन में रिफण्ड (Refund)

साथही आदेश में यह भी कहा गया कि टिकट जमा रसीद-टीडीआर सौंपने के 60 दिन के भीतर भाड़ा वापस पाने के लिए मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक को टीडीआर सौंपा जा सकता है। ट्रेन की यात्रियों की सूची देखने के बाद और रेलवे अधिकारियों द्वारा पुष्टि होने पर भाड़ा वापस मिल सकता है। इसके अलावा जो यात्री 139 के द्वारा यात्रा रद्द कर भाड़ा वापस पाना चाहते हैं , तो रेलवे ने उनके लिए भी व्यवस्थाकी है। वे यात्रा की तारीख से 30 दिन पहले काउंटर से भाड़ा वापस ले सकते हैं।