rajbhasha :शैलेन्द्र कुमार सिंह ‘‘कमलापति त्रिपाठी राजभाषा स्वर्ण पदक’’ से सम्मानित

rajbhasha

पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक हैं शैलेन्द्र कुमार सिंह 
-राजभाषा (rajbhasha) नीति के सफल कार्यान्वयन पर मिला सम्मान
-रेल संदेश ब्यूरो-
जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे जोन में राजभाषा (rajbhasha) नीति के सफल कार्यान्वयन के लिए रेलवे बोर्ड ने पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक शैलेन्द्र कुमार सिंह को ‘‘कमलापति त्रिपाठी राजभाषा स्वर्ण पदक’’ से सम्मानित करने का निर्णय लिया है। पश्चिम मध्य रेलवे के गठन के उपरांत राजभाषा (rajbhasha)  के उपयोग व प्रसार में उल्लेखनीय योगदान के लिए यह प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त करने वाले शैलेंन्द्र कुमार सिंह पहले महाप्रबंधक हैं। जोन की मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्रीमती प्रियंका दीक्षित ने बताया कि प्श्चिम मध्य रेलवे जोन का कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही महाप्रबंधक सिंह ने राजभाषा (rajbhasha) के उपयोग-प्रसार संबंधी उन मदों की ओर विशेष ध्यान दिया जिन मदों में अब तक हिंदी का उपयोग अपेक्षित मात्रा में नहीं हो पा रहा था।

shailendra kumar singh, GM, WCR

फलस्वरूप विभागीय निरीक्षणों के दौरान राजभाषा प्रगति का निरीक्षण, विभागीय बैठकों में हिंदी मद पर चर्चा तथा अधिकांश अधिकारियों की निरीक्षण रिपोर्ट हिंदी मे ं जारी की जाने लगी हैं। उनके मार्गदर्शन में इस जोन की वेबसाइट को नए सिरे से द्विभाषी रूप में तैयार कर इसे अंग्रेजी-हिंदी में एक साथ अपडेट किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। महाप्रब ंधक वार्षिक निरीक्षण के दौरान मुख्य राजभाषा अधिकारी द्वारा अपने विभागीय निरीक्षण के साथ-साथ राजभाषा प्रगति का निरीक्षण भी किया जाता है। यह विशेष उल्लेखनीय है कि मंडलों द्वारा वार्षिक निरीक्षण पुस्तिकाओं का हिंदी में प्रकाशन पश्चिम मध्य रेलवे की एक अनुकरणीय पहल है। साथ ही सिंह के सुझावों तथा मार्गदर्शन से इस रेलवे जोन क्षेत्र में विभिन्न मदों में राजभाषा हिंदी के इस्तेमाल में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। फलस्वस्प रेलवे को राजभाषा के उपयोग-प्रसार के क्षेत्र में एक नई दिशा मिली है और इस रेलवे पर राजभाषा हिंदी का इस्तेमाल पूरे उत्साह के साथ किया जा रहा है। पश्चिम मध्य रेलवे जोन के महाप्रबंधक के रूप में सिंह की निष्ठा, संकल्प और प्रगतिशील एवं सकारात्मक सोच के फलस्वरूप इस रेलवे जोन के मुख्यालय सहित इसके विभिन्न मंडलों तथा कारखानों में राजभाषा हिंदी के उपयोग-प्रसार के लिए अनुकूल वातावरण निर्मित हुआ है। इसके अलावा महाप्रबंधक ने जबलपुर, नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति के अध्यक्ष पद का दायित्व भी संभाले हुआ हैं और इस समिति की छःमाही बैठकों में उन्होंने सुदीर्घ अनुभव एवं मार्गदर्शन से इस समिति के अधीनस्थ केन्द्रीय सरकार के 50 अन्य कार्यालयों में भी हिंदी के उपयोग-प्रसार में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान कर रहे हैं। पश्चिम मध्य रेलवे के साथ-साथ जबलपुर स्थित केन्द्रीय सरकार के कार्यालयों, उपक्रमों तथा संस्थानों में हिंदी का प्रचार-प्रसार बढ़ाने में उनके मार्गदर्शन एव ं उत्कृष्ट योगदान को ध्यान में रखते हुए रेल मंत्रालय, र ेलवे बोर्ड ने प्रतिष्ठित ‘‘कमलापति त्रिपाठी राजभाषा स्वर्ण पद कमलापति त्रिपाठी राजभाषा स्वर्ण पदक कमलापति त्रिपाठी राजभाषा स्वर्ण पदक’’ पुरस्कार से सम्मानित करने का निर्णय लिया है। उल्लेखनीय है कि यह पुरस्कार वरिष्ठ प्रशासनिक ग्रेड के ऐसे उच्च अधिकारियों को प्रदान किए जाते हैं जिनका अपने कार्यक्षेत्र में राजभाषा हिंदी का उपयोग-प्रसार बढ़ाने में उत्कृष्ट योगदान रहता है तथा जो अपने अधीनस्थ अधिकारियों/कर्मचारियों को हिंदी भाषा में काम करने की प्रेरणा देने के अलावा स्वयं भी हिंदी में काम करते हैं। अपर महाप्रबंधक, शोभन चैधरी, मुख्य राजभाषा अधिकारी, कार्तिक चैहान, प्रधान मुख्य संरक्षा अधिकारी, एस.पी. माही तथा अन्य विभाग प्रमुखों ने इस गौरवपूर्ण उपलब्धि के लिए महाप्रबंधक सिंह को बधाई दी है।