section speed : लाॅक डाउन का सदुपयोग, रेलवे ने बढ़ाई स्पीड 100 से 110 Kmph

0
8

– रेल संदेश ब्यूरो –
section speed हुबली।  दक्षिण पश्चिम रेलवे ने प्रमुख ट्रैक रखरखाव कार्यों को पूरा करने के लिए लॉकडाउन अवधि का उपयोग किया है, जिससे स्टेशनों के बीच सेक्शन स्पीड ( section speed, जिस स्पीड पर ट्रेन चलती है) को बढ़ाने में मदद मिली है। ट्रैक का रखरखाव ट्रेन संचालन का एक एकीकृत हिस्सा है और इसका पटरियों की सुरक्षा के साथ-साथ ट्रेनों की अधिकतम अनुमत गति को बनाए रखने में सीधा प्रभाव पड़ता है। रखरखाव के दौरान रेलवे लाइनों, प्वाइंट्सं, क्रॉसिंग, स्लीपरों और गिट्टी पर खासा ध्यान दिया गया। दक्षिण पश्चिम रेलवे जोन ट्रैक के रखरखाव का काम नियमित रूप से कर रहा है और इसी का परिणाम है कि हुबली मण्डल के लोंडा-मिराज सेक्शन व लोंडांड-वास्को सेक्शन में स्पीड (section speed) बढ़ गई है। इन सेक्शन में 100 किमी प्रति घंटा से 110 किमी प्रति घंटा की वृद्धि हुई है। सेक्शन स्पीड (section speed) बढ़ने पर अब तेज ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। मोड़ पर उन्नत कार्य, परिवहन की लंबाई में सुधार, टैंपिंग के माध्यम से पॉइंट्स और क्रॉसिंग में सुधार किया गया। यह सभी कार्य UNIMAT नामक ट्रैक मशीन की सहायता से पूरे किए गए। इस कार्य को लाॅक डाउन अवधि के दौरान पूरा किया गया। नियमित रेलगाड़ियों का संचालन बंद होने के कारण स्पीड (section speed) बढ़ाने का काम किया गया। निरीक्षण के बाद, कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी ने हुबली डिवीजन के लोंडा से मिराज के बीच 186 किलोमीटर और सांवेरडेम – वास्को के बीच 19 किलोमीटर की दूरी में सेक्शनल स्पीड (section speed) बढ़ाने की अनुमति दी है। दक्षिण पश्चिम रेलवे जोन के महाप्रबंधक अजय कुमार सिंह ने बताया कि इस खंड पर गति बढ़ने से रेलगाड़ियों की टाइमिंग में सुधार होगा। उन्होंने कहा कि रेलगाड़ियों की गति में बाधा बनने वाले सभी अवरोधों को दूर करने का लगातार प्रयास किया जा रहा है। एसडब्ल्यूआर के पीसीई विपुल कुमार, के निर्देशन में सेक्शन पर गति बढ़ाई गई। कार्य की प्रगति की योजना और निगरानी हुबली के मण्डल रेल प्रबंधक अरविन्द मलखेडे ने की ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here