Railway : रेलवे में इमरजेंसी, कर्मचारियों की छुट्टियों पर रोक

0
10

-श्याम मारू-
बीकानेर।
लगता है भारतीय रेलवे (Railway) ने आपातकाल लगा दिया है। सभी कर्मचारियों की आकस्मिक समेत सभी छुट्टियों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। अगले 2 से 8 जनवरी तक रेलवे का कोई भी कर्मचारी अवकाश नहीं ले सकेगा। इस बारे में रेलवे बोर्ड ने सभी जोन के महाप्रबंधक, सभी उत्पादन इकाइयों और कोलकाता मेट्रो के महाप्रबंधकों को पत्र जारी कर तत्काल प्रभाव से छुट्टियों पर रोक लगाने को कहा है। इससे आगामी एक सप्ताह तक रेलवे के कर्मचारी अवकाश से वंचित रहेंगे। रेलवे (Railway) के निजीकरण के विरोध में सभी कर्मचारी लामबंद हो रहे है। ऑल इण्डिया रेलवे मैन्स फेडरेशन (एआईआरएफ) की ओर से 2 से 7 जनवरी तक विरोध सप्ताह मनाया जा रहा है। इस विरोध सप्ताह के तहत कर्मचारी धरना, प्रदर्शन करेंगे। साथ ही गेट मीटिंग करके भी अपना विरोध दर्ज करवाएंगे। साथ ही 8 जनवरी को रेलवे यूनियन समेत विभिन्न ट्रेड यूनियन बड़ा प्रदर्शन करेंगे। रेलवे की ओर से रेलवे बोर्ड को पुनर्गठन कर भारतीय रेलवे प्रबंधन सेवा (आईआरएमएस) (IRMS) बनाया गया है। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अब आईआरएमएस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी होंगे। रेल यूनियनें इस कदम को रेलवे (Railway) का पूर्ण निजीकरण के तौर पर देख रही है। इससे पहले 7 उत्पादन इकाइयों को निगम बनाने का फैसला और लगभग 150 रेलगाडिय़ों को आईआरसीटीसी के माध्यम से निजी कम्पनियों को सौंपने के फैसले को भी रेलवे का निजीकरण मानते हुए रेल यूनियनों ने अक्टूबर में विरोध पखवाड़ा मनाया था।
रेलवे बोर्ड के निदेशक (संस्थापन) आर.के. सिन्हा की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि एआईआरएफ की ओर से 2 से 7जनवरी तक धरना, प्रदर्शन, गेट मिटींग आदि किए जाएंगे।कर्मचारियों की आकस्मिक सहित सभी छुट्टियां स्वीकृत नहीं की जाए। बिना कारण रेल आदि रोकने पर रेलवे एक्ट की धारा 173, 174 व 175 के तहत कार्रवाई की जाएगी। पत्र में कार्मिकों को ड्यूटी के प्रति पाबंद रखने को कहा गया है।

रेलवे बोर्ड ने कर्मचारियों के अवकाश रद्द करने सम्बंधी जो आदेश जारी किया है, वो दमनकारी है। नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन (एनडब्ल्यूईआरयू) रेलवे के निजीकरण के विरोध में 2 से 7 जनवरी तक विरोध सप्ताह मनाएगी। कर्मचारी किसी आदेश को नहीं मानते हुए खुलकर प्रदर्शन में भाग लेंगे।-अनिल व्यास, जोनल कार्यकारी अध्यक्ष, एनडब्ल्यूईआरयू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here