qr code ticket : अब रेल टिकटों की क्यूआर कोड से होगी जांच

qr-code-ticket

सीएसएमटी में लंबी दूरी के यात्रियों के लिए फ्लैप गेट स्थापित होगा
मुम्बई
। रेलवेेेेेेेेेे अब क्यू आर कोड से टिकटों (qr code ticket) की जांच करेगा। क्यू आर कोड (qr code ticket)में यात्री के विवरण से सम्बंधित सभी जानकारी होगी। अब टिकट को टीटीई को नहीं दिखाना होगा। स्टेशन पर प्रवेश के समय स्कैनर से स्वतः टिकट की जांच हो जाएगी। इसके बाद यात्री स्टेशन के अंदर प्रवेश कर सकेंगे। क्यूआर कोड से टिकट (qr code ticket) जांच करने वाला मध्य रेलवे का मुम्बई पहला स्टेशन होगा। मध्य रेल मुंबई मंडल क्यूआर कोड टिकट का उपयोग करके छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस ( गैर-उपनगरीय यात्रियों के प्रवेश द्वार पर) स्टेशन में स्वचालित प्रवेश के लिए फ्लैप-आधारित गेट स्थापित करेगा। इन फ्लैप आधारित गेटों में क्यूआर कोड स्कैनर और थर्मल स्कैनिंग की सुविधा रहेगी। टिकट विवरणों के सत्यापन के लिए यात्रियों को क्यूआर कोड स्कैनर पर क्यूआर कोड को प्रवेश द्वार पर रखना होगा। टिकट विवरण और तापमान स्क्रीनिंग दोनों के सत्यापन के बाद ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।वर्तमान में, आईआरसीटीसी वेबसाइट या पीआरएस काउंटरों के माध्यम से बुक किए गए टिकटों के लिए एक क्यूआर कोड जनरेट होता है। इस क्यूआर कोड टिकट पर सभी विवरण होते हैं और यात्रियों द्वारा आईआरसीटीसी ऐप में जनरेटेड टिकट से, टिकट की पीडीएफ से या टिकट बुक करने पर प्राप्त एसएमएस में यूआरएल पर क्लिक करके पहुँचा जा सकता है। यह पहल कोविड-19 के दौरान सुरक्षित यात्रा की सुविधा प्रदान करेगी, यात्रियों और रेलवे कर्मचारियों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग को बढ़ावा देगी, स्टेशन परिसर में अनधिकृत पहुंच का पता लगाने में मदद करेगी और मानव संसाधन को युक्तिसंगत बनाएगी। यात्रियों से अनुरोध है कि वे इस सुविधा पर ध्यान दें और बेहतर सेवा देने हेतु रेलवे की मदद करें। इस स्टेशन पर सफलतापूर्वक जांच होने के बाद देश के अन्य रेलवे स्टेशनों पर भी क्यूआर कोड जांच सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।