अजमेर-उदयपुर में इलेक्ट्रिफिकेशन (electrification) अक्टूबर तक

0
40

अजमेर। फुलेरा-अजमेर-उदयपुर खण्ड (phulera-ajmer-udaipur) में रेलवे की ओर से इलेक्ट्रिफिकेशन (electrification) का काम अक्टूबर 2019 तक पूरा होने की उम्मीद है। इस खण्ड में इलेक्ट्रिफिकेशन (electrification) का काम बहुत ही तेजी से चल रहा है। इस खण्ड में अजमेर के उपनगर मदार (madar)के पास इलेक्ट्रिफिकेशन का काम अधुरा है। मदार में पोल लगाने का काम पूरा हो चुका है, अगले एक महीने में इस पर तार लगाने और बिजली सब स्टेशन स्थापित करने का काम होगा, जिससे इलेक्ट्रिफिकेशन (electrification) का काम पूरा होने के बाद इस खण्ड में ट्रेन दौड़ाई जा सके।

चेतक एक्सप्रेस दौड़ेगी सबसे पहले

फुलेरा-अजमेर-उदयपुर खण्ड में इलेक्ट्रिफिकेशन का काम पूरा होते ही सबसे पहले चेतक एक्सप्रेस (chetak express) को चलाया जाएगा। अजमेर रेल मण्डल केे अधिकारियों ने चेतक एक्सप्रेस को चलाने की योजना बना ली है और तैयारी भी कर ली है। चेतक एक्सप्रेस (chetak express) उदयपुर से दिल्लीसराय रोहिल्ला के बीच प्रतिदिन चलती है। उदयपुर से रवाना होने के बाद यह ट्रेन रास्ते में राणा प्रताप नगर, मावली, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा,बिजयनगर, नसीराबाद, अजमेर, किशनगढ़, फुलेरा रेनवाल, रींगस,श्रीमाधोपुर नीमका थाना, नारनौल, रेवाड़ी, गुड़गांव,दिल्,ली कैंट ठहरती हुई दिल्ली सराय रोहिल्ला पहुंचती है।

110 किमी की स्पीड

इलेक्ट्रिफिकेशन का काम पूरा होने के बाद इस खण्ड में अक्टूबर 2019 तक इलेक्ट्रिक ट्रेन (electrification) दौडने लगेगी। रेल संरक्षा आयुक्त ने इस खण्ड में ट्रेनों की स्पीड को 100 से 110 किमी प्रति घंटे की स्पीड से चलाने की अनुमति प्रदान कर दी है। अभी इस खण्ड में डीजल इंजन 80 से 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से रेलगाड़ी को घसीट रहे हैं, इलेक्ट्रिक इंजन (electric engne)) की ही स्पीड 100 से 125 किलामीटर प्रति घंटा रहती है, ऐसे में अजमेर से उदयपुर की यात्रा इलेक्ट्रिक ट्रेन साढ़े चार घंटे में ही यह दूरी तय कर लेगी। फिलहाल यह दूरी साढ़े पांच घंटे में तय होती है। है। मदार और फुलेरा में इलेक्ट्रिफिकेशन का काम जुलाई2019 तक पूरा होने की सम्भावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here