UMID: रेलकर्मचारियों का इलाज अब देशभर के अस्पतालों में

0
64

-एकीकृत मेडिकल आईडी (UMID)
-रेलवे बोर्ड ने जारी किए आदेश
बिलासपुर।
रेलवे बोर्ड (railway board) ने रेल कर्मचारियों, सेवानिवृत्त कर्मचारियों और लाभार्थियों के इलाज के लिए अद्वितीय चिकित्सा पहचान (UMID) जारी किया है। मेडिकल पहचान पत्रों में एकरूपता लाने के लिए ये चिकित्सा पहचान पत्र आवंटित किया जा रहा है। इसी कड़ी में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में भी अद्वितीय चिकित्सा पहचान (UMID) पत्र जारी किए गए है। रेलवे बोर्ड के दिशानिर्देशों के अनुसार, कर्मचारियों को  UMID पोर्टल  https://umid.digitalir.in पर स्वयं ही पंजीकरण करना होगा । कर्मचारियों के साथ-साथ उनके आश्रितों के लिए अलग से आईडी कार्ड मिलेगा। उम्मीद कार्ड बनवाने के लिए कर्मचारियों को मुख्यालय तक आने की भी आवश्यकता नहीं। वे अपने कार्यक्षेत्र पर ही कार्ड बनवा सकते हैं। चिकित्सा पहचान पत्र के डिजिटलीकरण के रेलवे बोर्ड के फैसले का सभी ने स्वागत किया है। इससे रेल कर्मचारियों व उनके आश्रितों का इलाज आसान हो जाएगा।

भौतिक कार्ड ले जाना भी अनिवार्य नहीं

इससे दूरदराज वाले कर्मचारियों को भी बड़ी आसानी से चिकित्सा मदद मिलेगी। “नई प्रणाली की शुरुआत के साथ ही कर्मचारी किसी भी स्थान से आवेदन कर सकते हैं। इससे देश भर के रेलवे अस्पतालों का उपयोग आसान व सुविधाजनक हो जाएगा। इस प्रणाली में भौतिक कार्ड ले जाना भी अनिवार्य नहीं होगा। फिलहाल इलाज के लिए दूरदराज वाले कर्मचारियों को अपने मंडल मुख्यालय आना पड़ता है। अब वे किसी भी रेलवे अस्पताल में इलाज करवा सकेंगे। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे(south east central railway) के मुख्यालय ने सभी विभाग के प्रमुखों को सर्कुलर जारी किया है। नया मेडिकल कार्ड बनवाने के लिए UMID पोर्टल  https://umid.digitalir.in पर कर्मचारी स्वयं ही पंजीकरण कर सकते है। आनलाइन रजिस्ट्रेशन करने की विस्तृत प्रक्रिया एवं आवश्यक दस्तावेजों की सूची दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की वेबसाइट https://secr.indianrailways.gov.in पर देखी जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here