रेलवे अधिकारियों की कैडर समीक्षा

0
47

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे में अधिकारियों की सेवाओं की कैडर समीक्षा की गई है। कैडर समीझा में आठ सेवाओं की कैडर समीक्षा को मंजूरी दी गई। इससे लगभग एक हजार से ज्यादा अधिकारियों को लाभ मिलेगा। यह कैडर समीक्षा पिछले सात साल से लम्बित थी। पिछली कैडर समीक्षा वर्ष 2012 में हुई थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने रेलवे के संगठित ग्रुप ‘ए’ की 8 सेवाओं की कैडर समीक्षा की मंजूरी दी जिनमें भारतीय रेल लेखा सेवा (आईआरएएस), भारतीय रेल कार्मिक सेवा (आईआरपीएस), भारतीय रेल यातायात सेवा (आईआरटीएस), भारतीय रेल इंजीनियरिंग सेवा (आईआरएसई), भारतीय रेल बिजली इंजीनियरिंग सेवा (आईआरएसईई), भारतीय रेल यांत्रिक इंजीनियरिंग सेवा (आईआरएसएमई), भारतीय रेल स्टोर्स सेवा (आईआरएसएस) और भारतीय रेल सिग्नल इंजीनियरिंग सेवा (आईआरएसएसई) शामिल हैं।मंत्रिमंडल ने आईआरपीएस के लिए एक कैडर पद सदस्य (कर्मचारी) के पद को संवर्गित करने और महानिदेशक (सिग्नल और दूरसंचार), महानिदेशक (स्टोर्स) तथा महानिदेशक (कार्मिक) के पदों का नाम बदल कर क्रमशरू सदस्य (सिग्नल और दूरसंचार), सदस्य (सामग्री प्रबंधन) और महानिदेशक (संरक्षा) करने को भी मंजूरी दी है।

पैरामेडिकल में भर्ती

चुनावी वर्ष होने के कारण रेलवे लगातार भर्तियां निकाल रहा है। पिछले दिनों रेलवे रिक्रुटमेंट सेल की ओर से ग्रुप डी में 1.30 लाख भर्तियां निकाली गई थी। अब रेलवे भर्ती बोर्ड ने पैरामेडिकल श्रेणी के 1937 पदों पर वैकेन्सी निकाली है। इसके लिए अभ्यर्थियों को 2 अप्रेल तक आॅनलाइन पंजीयन करवाना होगा। यह भर्तियां पैरामेडिकल श्रेणी के कुल सोलह संवर्ग में निकाली गई हैं। इनमें सबसे ज्यादा स्टाफ नर्स के 1109 पद हैं। इसके अलावा हेल्थ एण्ड मलेरिया निरीक्षक थर्ड ग्रेड के 289 और फार्मासिस्ट थर्ड ग्रेड के 277 पद शामिल हैं। साथ ही डेंटल हाइजीनिस्ट 5, डायलिसिस टेक्निशियन 20, एक्सटेंशन एजूकेटर 11, लैब सुपरिडेंट 25, ओस्टोमेट्रिस्ट 6, परफ्यूक्शनिस्ट 1,फिजियोथेरेपिस्ट 21, रेडियोग्राफर 61, स्पीच थैरेपिस्ट 1 ईसीजी तकनीशियन 23, लेडी हैल्थ विजिटर 2 और लैब असिस्टेंट सैकण्ड ग्रेड के 82 पदों पर भी भर्ती की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here