parcel train: रेलवे ने चलाई 8 स्पेशल ट्रेन, 20 रूट पर और चलेगी

0
34

-पार्सल ट्रेन (parcel train) से पहुंचेगे दूध, सब्जी, मेडिकल सामान
-श्याम मारू-
बीकानेर।
कोविड-19 के मद्देनजर वस्तुओं और आवश्यक सामान की बेरोक-टोक और लगातार आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए, भारतीय रेलवे (indian railway) ने देश के नागरिकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए आवश्यक वस्तुओं और अन्य सामान को देश भर में पहुंचाने के लिए बिना किसी बाधा के पार्सल ट्रेनों (parcel train) की सेवाएं देने की पेशकश की है। कोविड-19 के मद्देनजर लॉकडाउन के दौरान छोटे आकार के पार्सल में आवश्यक वस्तुएं जैसे चिकित्सा आपूर्ति, चिकित्सा उपकरण, भोजन आदि ले जाना बेहद महत्वपूर्ण होगा। रेलवे 22 मार्च 2020 से अब तक कुल 8 पार्सल स्पेशल ट्रेनें (parcel train) चला चुका है। इनके अलावा 20 मार्गों पर पार्सल स्पेशल (parcel train) चलाने की योजना बनाई गई है। इस महत्वपूर्ण आवश्यकता को पूरा करने के लिए, भारतीय रेलवे ने जरूरतमंद ई-वाणिज्य संस्थाओं और राज्य सरकारों सहित अन्य ग्राहकों के लिए देश भर में तेजी से सामान पहुंचाने के लिए रेलवे पार्सल वैन उपलब्ध कराई है। इस बात पर गौर किया जा सकता है कि गृह मंत्रालय लॉकडाउन की अवधि के दौरान देश में वस्तुओं और सामान को लाने-ले जाने पर लागू प्रतिबंध हटा चुका है। पार्सल ट्रेनों (parcel train) का प्रावधान और वस्तुओं को तेजी से लाने-ले जाने से आपूर्ति श्रृंखलाओं की दक्षता में और वृद्धि होगी। स्पेशल पार्सल ट्रेनें चलाने के फैसले से छोटी मात्रा के साथ-साथ आवश्यक वस्तुओं जैसे डेयरी उत्पाद, चिकित्सा उपकरण और दवाएं, किराने का सामान, खाद्य तेल और अन्य आवश्यक वस्तुओं आदि को लाने- ले जाने में मदद मिलेगी।

पार्सल ट्रेन (parcel train) का लाभ उठाने का आह्वान

भारतीय रेल पहले से ही मालगाड़ियों के माध्यम से देश के विभिन्न भागों में आवश्यक वस्तुएं पहुंचा रही है। रेलवे की ये मालवाहक सेवाएं आवश्यक वस्तुओं जैसे खाद्यान्न, खाद्य तेल, नमक, चीनी, कोयला, सीमेंट, दूध, सब्जियों और फलों आदि की थोक जरूरतों को पूरा कर रही हैं, ऐसे कई मद हैं जिन्हें तुलनात्मक रूप से कम मात्रा में पहुंचाने की आवश्यकता है। विमान सेवा के बाद, रेलवे एक राज्य से दूसरे राज्य में ऐसे सामानों को पहुंचाने का सबसे तेज तरीका है। इन पार्सल ट्रेनों को चलाने के लिए भारतीय रेलवे के विभिन्न जोन अपनी-अपनी योजनाओं पर काम कर रहे हैं। वे विज्ञापन सहित संचार के विभिन्न माध्यमों से संभावित ग्राहकों तक पहुंच रहे हैं। औद्योगिक घराने, कंपनियां, कोई भी इच्छुक समूह, संगठन, व्यक्ति इन सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। इच्छुक पक्ष पंजीकरण के लिए रेलवे पार्सल कार्यालयों और डिवीजनों से संपर्क कर सकते हैं। उपरोक्त के अलावा, किसी भी अन्य स्थान से – गंतव्य स्थान तक पूछताछ और पंजीकरण का स्वागत है। सेवाओं को मौजूदा नियमों के अनुसार और पार्सल ध् माल भाड़े का भुगतान करने पर चलाया जाएगा।

पार्सल स्पेशल ट्रेनों का विवरण

सप्लाई ट्रेन।

उत्तर रेलवे पार्सल स्पेशल ट्रेन:1. नई दिल्ली- गुवाहाटी 2. नई दिल्ली- मुम्बई सेंट्रल 3. नई दिल्ली- कल्याण 4. नई दिल्ली- हावड़ा 5. चंडीगढ़- जयपुर 6. मोगा- छंगसारी पार्सल आरसीपी । दक्षिण रेलवे पार्सल स्पेशल ट्रेन:1. कोयम्बटूर- पटेल नगर (दिल्ली क्षेत्र)- कोयम्बटूर 2. कोयम्बटूर- राजकोट-कोयम्बटूर 3. कोयम्बटूर- जयपुर- कोयम्बटूर 4. सेलम-बठिंडा। मध्य रेलवे पार्सल ट्रेनः 1. कल्याण- नई दिल्ली 2. नासिक- नई दिल्ली 3. कल्याण- सांतरागाछी 4. कल्याण- गुवाहाटी। दक्षिण पूर्व रेलवे पार्सल स्पेशल ट्रेनः संकरेल गुड्स टर्मिनल यार्ड (एसजीटीवाई)ध्शालीमार (एसएचएम) से कल्याण (केवाईएन) संकरेल गुड्स टर्मिनल यार्ड (एसजीटीवाई)/ शालीमार (एसएचएम) से न्यू गुवाहाटी गुड्स शैड (एनजीसी) संकरेल गुड्स टर्मिनल यार्ड (एसजीटीवाई)/शालीमार (एसएचएम) से बेंगलुरु (एसबीसी)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे पार्सल स्पेशल ट्रेनः पार्सल ट्रेनें मांग के आधार पर एक स्थान से दूसरे स्थान तक बीच में कहीं बिना रुके चलेंगी और एसईसीआर रूट से मुंबई और कोलकाता से चलने के लिए निर्धारित पार्सल ट्रेनों में छोटी जगह भी दी जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here