रेलवे स्टेशनों पर एक रूपए में करवाएं इलाज

0
16

मुम्बई। मुम्बई के लोकल रेलवे स्टेशनों पर वन रूपी क्लिनिक (one rupee clinic) पर यात्री उमड़ रहे हैं। एक रूपए के नाममात्र के परामर्श शुल्क देकर यात्री अपना इलाज करवा सकते हैं। साथ ही इन क्लिनिकों में दवाएं भी रियायती दर पर उपलब्ध करवाई जा रही है। अभी तो यह सुविधा मध्य रेलवे के स्टेशनों पर उपलब्ध करवाई जा रही है लेकिन अतिशीघ्र पश्चिम रेलवे जोन के स्टेशनों पर भी उपलब्ध करवाई जाएगी। पश्चिम रेलवे में इसकी शुरुआत ग्रांट रोड स्टेशन से होगी। इसके बाद इसे दूसरे स्टेशनों पर भी शुरू किया जाएगा। बता दें कि क्लीनिक शुरू होने के बाद यात्री एक रुपये परामर्श शुल्क देकर चिकित्सकीय सलाह ले सकेंगे। वन रुपी से मिली जानकारी के अनुसार, क्लीनिक शुरू करने की सभी तैयारियां हो चुकी है। इसके लिए रेलवे और वन रुपी के बीच अनुबंध भी किया जा चुका है। वन रूपी क्लिनिक (one rupee clinic) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. राहुल घुले ने बताया कि मध्य रेलवे के स्टेशनों पर शुरुआत से लेकर अब तक 80 हजार से अधिक लोगों को एक रुपये में चिकित्सकीय परामर्श दिए जा चुके हैं। वहीं ट्रेन एक्सिडेंट का शिकार हुए या आपातकाल के समय 5 हजार यात्रियों को निरूशुल्क सेवा मिली है। मुंबईकरों से मिले बेहतरीन रेस्पाॅंस को देखते हुए हमने इसकी शुरुआत पश्चिम रेलवे में भी करने का फैसला लिया है। रेलवे की तरफ से हमें फिलहाल ग्रांट रोड स्टेशन दिया गया है। आगे चलकर भाईंदर और पालघर स्टेशन पर भी इसकी शुरुआत की जाएगी।

फिलहाल यहां मिलता है एक रुपये में उपचार

डाॅ. राहुल घुले ने बताया कि फिलहाल मध्य रेलवे के कुर्ला, सायन, चेंबूर,भांडुप, कलवा, डोंबिवली, अंबरनाथ, उल्हासनगर और टिटवाला स्टेशन पर वन रुपी क्लीनिक कार्यरत है। इस लाइन पर यात्रा करने वाले तकरीबन 36 लाख यात्रियों को आकस्मिक उपचार देने के लिए फिलहाल इनकी संख्या थोड़ी कम है। आने वाले समय में इसे भी बढ़ाया जाएगा। एक रुपये में परामर्श देने के साथ ही यात्रियों को दवाओं और जांच में भी रियायत दी जाती है। डॉ. घुले ने बताया कि महानगर के 100 से अधिक प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टर भी हमारे साथ जुड़ रहे हैं, जो वन रुपी से रेफर होकर जाने वाले मरीजों को चिकित्सकीय परामर्श में 50 प्रतिशत की रियातय देंगे।

तीन ट्रेनों में कोच बढ़ाए

जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे की ओर से यात्रियों की सुविधा को देखते हुए कोच बढ़ाने का फैसला किया है। यात्रियों के अतिरिक्त दबाव को देखते हुए यह सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। इससे प्रतीक्षा सूची कम होगी और या़ित्रयों को अतिरिक्त सीटें मिलेंगी। पश्चिम मध्य रेलवे कीे मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी ने बताया कि निम्न लिखित रेलगाड़ियों में 15 मई 2019 से अतिरिक्त कोच लगाए जाएंगे। गाड़ी संख्या 12187 जबलपुर-क्षत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस गरीब रथ एक्सप्रेस में तृतीय श्रेणी वातानुकूलित के तीन कोच लगाए गए हैं। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 19807 कोटा-जयपुर एक्सप्रेस और गाड़ी संख्या 19805 कोटा उधमपुर एक्सप्रेस में एक-एक स्लीपर कोच अतिरिक्त लगाया गया है। इन तीनों रेलगाड़ियों में ये कोच 15 मई 2019 से लगाए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here