nwr engineers association : बच्चों के भविष्य के लिए रेलवे को बचाओ

nwr engineers association

-इंजीनियर्स एसोसिएशन (nwr engineers association) का वार्षिक अधिवेशन

-रेल संदेश डेस्क-
बीकानेर। नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे इंजीनियर्स एसोसिएशन (nwr engineers association) का वार्षिक अधिवेशन रविवार को बीकानेर (bikaner) में आयोजित किया गया। इस अवसर पर एनडब्ल्यूआर इंजीनियर्स एसोसिएशन (nwr engineers association)  की नई कार्यकारिणी घोषित की गई।

nwr engineers association 1
फैडरेशन महासचिव नागेश यादव का आह्वान

अधिवेशन में ऑल इण्डिया रेलवे इंजीनियर्स फैडरेशन के महासचिव नागेश यादव ने अभियंताओं से आह्वान किया कि बच्चों के भविष्य के लिए रेलवे को बचाओ। उन्होंने कहा कि पहले रेल बजट बंद कर आम बजट में समाहित कर दिया गया, आम बजट में पता ही नहीं चलता कि रेलवे को क्या, कितना कैसे मिला। यह निजीकरण का ही एक कदम है। रेलवे के उच्चाधिकारियों ने जब रेलहित में उच्चपदस्थ नेताओं की बात मानने से इनकार किया तो रेलवे बोर्ड को ही भंग कर दिया गया।

nwr engineers association 2

इस अधिवेशन में जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, अजमेर के मण्डल च कार्यशालाओं से लगभग डेढ़ सौ अभियंताओं ने भाग लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ऑल इण्डिया रेलवे इंजीनियर्स फैडरेशन के महासचिव नागेश यादव थे तथा विशिष्ट अतिथि बीकानेर मण्डल के पूर्व अध्यक्ष सतीश कुमार चानणा थे।


कार्यक्रम की शुरुआत तकनीकी सत्र के रूप में गई। अभियन्ताओं ने रेलवे के संरक्षा तथा यात्री सुविधा पर चर्चा की। रेलवे की ओर से चलाए सीएण्डडब्ल्यू बिजली, सिग्नल, कार्यशाला डीजल शेड. सिविल इन्जिनियरिंग में चलाये जा रहे संरक्षा अभियानों पर चर्चा की गई।

nwr engineers association 4

नई कार्यकारिणी गठित

अधिवेशन के दौरान एसोसिएशन की नई जोनल कार्यकारिणी के चुनाव हुए। चुनाव अधिकारी सतीश कुमार चानणा ने सभी निर्विरोध चुने गए पदाधिकारियों की घोषणा की। नवगठित कार्यकारिणी में जी.आर. पन्नू अध्यक्ष, एस.डी. चतुर्वेदी महासचिव, सचिन त्रिवेदी कोषाध्यक्ष, दीपू कुमार संगठन सचिव चुने गए।

nwr engineers association 5

पुस्तक का विमोचन

कार्यक्रम में से जोधपुर में आये रेलवे के अभियंता संकलन सुनीलदत्त चतुर्वेदी के काव्य संग्रह अल्फाज ए जिन्दगी का विमोचन किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में बीकानेर मण्डल के रविशंकर, महेश जोशी, वी. पी. सिंह का विशेष सहयोग रहा।