world’s longest platform : गोरखपुर की जगह इस शहर में होगा दुनिया का सबसे लम्बा रेलवे प्लेटफार्म

0
37

-श्याम मारू-
बीकानेर। दुनिया का सबसे लम्बा रेलवे प्लेटफार्म (world’s longest platform) कौनसा है? इसका उत्तर है-गोरखपुर। लेकिन यह अब इतिहास बनने वाला है। नए साल यानी 2021 से दुनिया का सबसे लम्बा रेलवे प्लेटफार्म (world’s longest platform) होगा हुबली स्टेशन। जनवरी तक हुबली के प्लेटफार्म को दुनिया का सबसे लम्बा प्लेटफार्म (world’s longest platform) का दर्जा हासिल हो जाएगा। भारतीय रेलवे (indian railways) के मुताबिक अगले साल जनवरी के आखिर तक हुबली में प्लेटफॉर्म के विस्तार का काम पूरा हो जाने की उम्मीद है। इसके तहत हुबली में प्लेटफॉर्म की लंबाई 1.5 किलोमीटर से भी कुछ ज्यादा बढ़ाई जा रही है। मौजूदा समय में उसकी लंबाई आधा किलोमीटर से कुछ ही ज्यादा है। दक्षिण-पश्चिम रेलवे ने कर्नाटक के हुबली स्टेशन के प्लेटफॉर्म की लंबाई बढ़ाकर 1,505 मीटर करने का फैसला किया है, जिसपर काम चल रहा है। मौजूदा समय में हुबली का प्लेटफॉर्म 550 मीटर लंबा है। पहले यह तय किया गया था कि इसकी लंबाई बढ़ाकर 1,400 मीटर की जाएगी। लेकिन, बाद में इसके और ज्यादा विस्तार का फैसला किया गया।

gorakhpur-station

गोरखपुर है अभी दुनिया का सबसे लम्बा प्लेटफार्म(world’s longest platform)

वर्तमान में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जंक्शन के प्लेटफॉर्म को दुनिया का सबसे लंबा प्लेटफॉर्म का दर्जा प्राप्त है, जिसकी लंबाई 1,366 मीटर है। इस प्लेटफॉर्म के पुनर्निमाण का काम 2013 में किया गया था। गोरखपुर में उत्तर-पूर्व रेलवे का मुख्यालय भी है। हुबली में प्लेटफॉर्म के विस्तार की योजना पर 90 करोड़ रुपये की लागत आने वाली है और जनवरी, 2021 के अंत तक यह कार्य पूरा होने जाने की संभावना है। दरअसल, यह कार्य इस साल जून तक ही पूरा कर लिए जाने का लक्ष्य तय किया गया था। लेकिन, कोविड-19 की वजह से पैदा हुए हालातों के चलते इसे समय पर पूरा नहीं किया जा सका। दक्षिण-पश्चिम रेलवे के मुख्य जन संपर्क अधिकारी ई विजया ने रेल संदेश डाॅट काॅम को बताया कि पहले इस काम जून में पूरा कर लिए जाने की उम्मीद थी, लेकिन कोविड-19 से पैदा हुए हालातों की वजह से मजदूरों की कमी हो गई। अब, 250 से ज्यादा मजदूर काम कर रहे हैं और जनवरी के अंत तक प्रोजेक्ट पूरा हो जाएगा। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद हुबली रेलवे स्टेशन पर तीन अतिरिक्त प्लेटफॉर्म उपलब्ध होंगे। हुबली स्टेशन पर अभी पांच प्लेटफार्म है, अब उनकी संख्या बढ़कर 8 हो जाएगी। इसके साथ ही जनरल नाॅलेज के दस्तावेज में गोरखपुर का खिताब हुबली ले लेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here