meeting : कब से चलेगी रेलगाड़ियां, फैसले के लिए बैठक आज

नई दिल्ली। कोरोना महामारी से जूझ रहे देश भर को लाॅकडाउन खुलने का इंतजार है। सबसे ज्यादा इंतजार लोगों को रेल सेवाएं बहाल होने का इंतजार है। कोरोना महामारी का सबसे ज्यादा यदि किसी पर असर पड़ा है तो वह है रेलवे। लाॅक डाउन के बाद आज 36 दिन से ट्रेनों का संचालन पूरी तरह बंद है। अब लाॅक डाउन की अवधि बढ़ेगी ष्या नहीं। क्या 3 मई के बाद लाॅक डाउन खुल जाएगा? क्या लाॅक डाउन खुलने के बाद रेलगाड़ियों का संचालन शुरू हो जाएगा? इन सभी सवालों के हर कोई जवाब जानना चाहता है। यदि सबकुछ ठीक रहा तो आज शम तक इन सभी बातों पर से पर्दा उठ जाएगा। बुधवार को दोपहर बाद रेल मंत्रालय और केन्द्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की अहम बैठक (meeting) होने वाली है। उम्मीद की जा रही है कि इस बैठक (meeting) में रेलों के संचालन को लेकर कोई निणर्य किया जाएगा। इस बैठक (meeting) में केन्द्र सरकार की ओर से कैबिनेट सचिव राजीव गौबा और रेलवे की ओर से बोर्ड अध्यक्ष विनोद यादव भाग लेंगे। इस बैठक में मुख्यत: यह फैसला किया जाएगा कि रेलगाड़ियों का संचालन कब से शुरू किया जाए। हालांकि रेल चलाने पर अंतिम फैसला केन्द्र सरकार करेगी। विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों-प्रवासियों की घर वापसी के लिए उपाय पर चर्चा होगी। कई राज्य सरकारों ने भी स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग की है। रेल संचालन के दौरान एसी के डिब्बे लगाए जाए या नहीं।क्योंकि एसी के कोच से संक्रमण फैलने और बढ़ने का डर बना रहता है। ट्रेनों को रेड जोन में चलाया जाए या न हीं। यात्रियों की सुरक्षा और संक्रमण फैलने से रोकने के लिए एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन पहुंचने पर स्क्रीनिंग की सुविधा कैसे उपलब्ध करवाई जाए। रेल यात्रा के शुरुआती सफर में यात्रियों की संख्या कम रखी जाए। कुल मिलाकर इन सभी बातों पर विचार विमर्श करने के लिए आज दोपहर बाद यह महत्वपूर्ण बैठक (meeting) होगी।