indian railway : मध्यप्रदेश में रेल विकास के लिए 12 हजार 110 करोड़ रूपए आवंटित

indian railway

-भारतीय रेलवे (indian railway)  मजबूत कर रहा आधारभूत ढांचा

-रेल संदेश डेस्क-
जबलपुर। भारतीय रेलवे (indian railway) सभी प्रदेशों में विभिन्न परियोजनाओं में अधोसंरचना का विकास एक योजनाबद्ध तरीके से विस्तारित किया जा रहा है। भारतीय रेलवे (indian railway) मध्यप्रदेश में विभिन्न परियोजनाओं के लिए लगातार निर्माण कार्य करवा रहा है। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में भारतीय रेलवे (indian railway) के विकास के लिए वार्षिक बजट वर्ष 2022-23 में रुपये 12 हजार 110 करोड़ आवंटन किया गया है जो कि पिछले वर्ष की तुलना मे अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी है।

indian railway
ये अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी विभिन्न परियोजनाओं के लिए आवंटित बजट राज्यवार नहीं बल्कि परियोजना की लागत को दर्शाता है। रेलवे ने मध्यप्रदेश में वर्ष 2022 तक विभिन्न परियोजनाओं के अंतर्गत 40 से अधिक नई रेल लाईन, गेज परिवर्तन, दोहरीकरण/तिहरीकरण एवं रेल फ्लाई ओवर जैसे विभिन्न अधोसंरचना के निर्माण कार्य किया जा रहा है। इस विभिन्न परियोजनाओं की लागत रुपये 52 हजार करोड़ से अधिक रही है। इस प्रकार मध्यप्रदेश में रेलवे के इन्फ्रास्ट्रक्चर और सेफ़्टी की परियोजनाओं में कुल आउटले वर्ष 2020-21 में रुपये 6,509 करोड़ से बढ़ोत्तरी करते हुए वर्ष 2022-23 में रुपये 12,110 करोड़ प्रदान किया गया है।

indian railway

मध्यप्रदेश पिछले कुछ वर्षों में रेलवे इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं को गति प्रदान करते हुए नई ऊंचाइयों को छुआ है। इससे प्रदेश के क्षेत्रों का विकास, अर्थिक और अधौगिक विकास के साथ-साथ रोजगार को बढ़ावा मिला है। इसके अंतर्गत मध्य्प्रदेश में पूर्ण हुए कुछ महत्वपूर्ण परियोजनाओं की जानकारी निम्न है।
 181 किलोमीटर नयी रेलवे लाईन का निर्माण कार्य पूर्ण।
 588 किलोमीटर दोहरीकरण/तिहरीकरण अधोसंरचना का निर्माण कार्य पूर्ण।
 627 किलोमीटर गेज परिवर्तन का निर्माण कार्य पूर्ण।
मध्यप्रदेश में इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए 06 क्षेत्रीय रेलवे जिसमें पश्चिम मध्य रेल, पश्चिम रेलवे, मध्य रेल, उत्तर मध्य रेल, दक्षिण पूर्व मध्य रेल एवं पूर्व मध्य रेल का विशेष योगदान रहा है। इन सभी रेलवे ने अपनी अभूतपूर्व अधोसंरचना के निर्माण कार्य को गतिप्रदान करते हुए नई ऊंचाइयों को छुआ है। जिसमें पश्चिम मध्य रेलवे ने मध्यप्रदेश के उतरोत्तर विकास में रेलवे के नये आयामों को बढ़ाया है। पश्चिम मध्य रेलवे ने कुछ अभूतपूर्व परियोजनाओं में मध्यप्रदेश के विकास में उच्चतम वृद्धि हुई है।