indian rail : एनडब्ल्यूआर ने बनाए 52 हजार फेस मास्क

0
18

-भारतीय रेल (indian rail) का 10 लाख फेस मास्क बनाने का लक्ष्य
नई दिल्ली।
कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए किये जा रहे उपायों के तहत भारतीय रेल (indian rail)ने लगभग 6 लाख रियूजेबल फेसमास्क एवं 40000 लीटर से अधिक हैंड सैनेटाइजरों का उत्पादन किया है। भारतीय रेल ने अपने सभी जोन व उत्पादन इकाइयों को इनके निर्माण का कार्य सौंप रखा है। भारतीय रेल ने 10 लाख फेसमास्क और एक लाखा लीटर हैंड सैनेटाइजर के निर्माण का लक्ष्य रखा है। भारतीय रेल (indian rail)ने 7 अप्रेल 2020 से अपने सभी जोनल रेलवे, उत्पादन इकाइयों और पीएसयू में ही कुल 582317 रियूजेबल फेसमास्क एवं 41882 हैंड सैनैटाइजरों का उत्पादन किया है। उत्तर पश्चिम रेलवे (एनडब्ल्यूआर), ने 51961 रियूजेबल फेसकवरों एवं 3027 लीटर हैंड सैनेटाइजरों का उत्पादन किया है। चूंकि अनिवार्य वस्तुओं एवं वस्तुओं की आपूर्ति बनाये रखने के लिए माल लदान परिचालन 24 घंटे चल रहा है, परिचालन और रखरखाव कर्मचारी 24 घंटे काम कर रहे हैं। इन कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और उनके मनोबल को बनाये रखने के लिए सभी कार्यस्थलों पर निम्नलिखित का अनुपालन सुनिश्चित किया जा रहा है:-

भारतीय रेल (indian rail)कर्मचारियों को दे रही फेस मास्क

  • रिमूवेबल फेसकवर तथा हैंड सैनेटाइजर ड्यूटी पर आने वाले सभी कर्मचारियों को उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्हें संविदा श्रमिकों को भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं। रेलवे कार्यशालाएं, कोचिंग डिपो एवं अस्पताल इस अवसर पर आगे बढ़कर स्थानीय रूप से सैनेटाइजरों और मास्कों का उत्पादन कर रहे हैं जिससे कि आपूर्ति में सहायता दी जा सके।
  • सभी कार्मिकों को बेहतर स्वच्छता बनाये रखने के लिए रियूजेबल फेस कवर का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। रियूजेबल फेस कवर के दो सेट कर्मचारियों के पास उपलब्ध रहना है। सभी कार्मिकों को प्रति दिन साबुन से फेस कवर को साफ करने का परामर्श दिया जा रहा है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने इस संबंध में विस्तृत परामर्शदात्री जारी की है जिसे सभी को संचारित कर दिया है।
  • साबुन, पानी और धोने की सुविधाएं सभी कार्यस्थलों पर उपलब्ध कराई जा रही है। स्थानीय नवोन्मेषणों के साथ हैंड फ्री धोने की सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं।
  • सोशल डिस्टैंसिंग सुनिश्चित किया जा रहा है। इस संबंध में ट्रैकमेन एवं लोकोमोटिव पायलटों जैसे सभी कर्मचारियों के बीच नियमित रूप से जागरुकता फैलाई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here