food: आईआरसीटीसी किचनों में तैयार हुए 2 लाख भोजन पैकेट

irctc

आरपीएफ की टीम जुटी भोजन (food)उपलब्ध करवाने में
28 मार्च से अब तक लगभग 1.4 लाख पका भोजन वितरित
-श्याम मारू-
नई दिल्ली।
भारतीय रेल ने आरपीएफ, जीआरपी, जोनों के वाणिज्यिक विभागों, राज्य सरकारों एवं एनजीओ की सहायता से आईआरसीटीसी (irctc)के बेस किचनों के जरिये जरुरतमंद लोगों को लंच के लिए पेपर प्लेट एवं डिनर के लिए फूड (food) पैकेट के साथ बड़ी मात्रा में पका भोजन उपलब्ध कराना जारी रखा है। आरपीएफ एवं विभिन्न रेल जोनों में अन्य रेल विभागों के साथ एक टीम के रूप में कार्य कर रही आईआरसीटीसी (irctc) जरुरतमंद लोगों को लंच के लिए पेपर प्लेट एवं डिनर के लिए फूड (food) पैकेट के साथ पके भोजन की आपूर्ति कर रही है। जरुरतमंद लोगों को भोजन (food) की आपूर्ति करने के दौरान सोशल डिस्टंसिंग एवं स्वच्छता का पालन किया जा रहा है। संबंधित जोन एवं डिवीजन के जीएम/ध्डीआरएम भी जिला प्रशासनों एवं एनजीओ की सहायता से रेलवे स्टेशनों के आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले जरुरतमंद लोगों की भोजन की आवश्यकता की पूर्ति करने के लिए स्टेशन के निकट के क्षेत्र से आगे भी आईआरसीटीसी (irctc) के इन प्रयासों की पहुंच को बढ़ाने के लिए आईआरसीटीसी के अधिकारियों के निरंतर संपर्क में हैं।

ये हैं आईआरसीटीसी (irctc) के बेस किचन

आईआरसीटीसी ने उत्तरी, पश्चिमी, पूर्वी, दक्षिणी एवं दक्षिण मध्य जैसे विभिन्न जोनों में फैले नई दिल्ली, बंगलुरू, हुबली, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद, भुसावल, हावड़ा, पटना, गया, रांची, कटिहार, दीन दयाल उपाध्याय नगर, बालासोर, विजयवाड़ा, खुर्दा, काडपाली, तिरुचिरापल्ली, धनबाद, गुवाहाटी एवं समस्तीपुर में अपने किचनों से आरपीएफ, अन्य सरकारी विभागों एवं एनजीओ की सहायता से 28 मार्च, 2020 से गरीबों एवं जरुरतमंद लोगों को अब तक लगभग 102,937 पके भोजनों को वितरित किया है। 28 मार्च को, 2700 पके भोजनों के साथ आरंभ कर, आईआरसीटीसी ने 23 स्थानों पर 29 मार्च को 11530, 30 को 20487, 31 मार्च को 30850 एवं आज 37370 पके भोजन वितरित किए। रेलवे सुरक्षा बल भारतीय रेल द्वारा जरुरतमंद लोगों को भोजन वितरण कराने में व्यापक रूप से शामिल है। 28.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 74 स्थानों पर 5419 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया।

आरपीएफ ने डेढ़ लाख लोगों को भोजन (food) कराया

आईआरसीटीसी (irctc) के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 2719 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ(rpf) के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया। 29.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 146 स्थानों पर 21568 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया। आईआरसीटीसी (irctc) के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 8790 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया, जबकि 4150 व्यक्तियों के लिए भोजन एनजीओ के सहयोग से वितरित किया गया। 30.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 186 स्थानों पर 30741 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया। आईआरसीटीसी के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 12453 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया, जबकि 3746 व्यक्तियों के लिए भोजन एनजीओ के सहयोग से वितरित किया गया। 31.03.2020 को आरपीएफ द्वारा 196 स्थानों पर 38045 जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया। आईआरसीटीसी के किचनों में तैयार भोजन के अतिरिक्त, 14633 व्यक्तियों के लिए भोजन आरपीएफ के आंतरिक संसाधनों से सोर्स किया गया, जबकि 4072 व्यक्तियों के लिए भोजन एनजीओ के सहयोग से वितरित किया गया।

पूरी क्षमता से सहयोग करे-रेलमंत्री पीयूष गोयल

रेल तथा वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेल के अधिकारियों को अपनी सर्वश्रेष्ठ मानवीय क्षमताओं एवं संसाधनों के अनुसार भोजन एवं अन्य सहायता के साथ जरुरतमंद लोगों के पास पहुंचने का निर्देश दिया है। मंत्री ने कहा कि रेलवे को अपने प्रयासों का दायरा बढ़ाना चाहिए और जिला अधिकारियों तथा एनजीओ आदि के परामर्श से रेलवे स्टेशनों से दूर के क्षेत्रों तक पहुंचना चाहिए। उल्लेखनीय है कि रेल मंत्रालय लाॅक डाउन के समय, जो कोविड -19 के प्रसार को रोकने के लिए लगाया गया है, जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराने की किसी भी भारी मांग को पूरा करने के लिए तैयार है। भारतीय रेल किसी भी आपातकालीन स्थिति के लिए तैयार है और खाद्यान्नों एवं अन्य कच्चे मालों का पर्याप्त भंडार बना कर रखा जा रहा है।