fare : लागत की मात्र 15 प्रतिशत राशि वसूल रहा रेलवे

0
23

श्रमिक एक्सप्रेस में किराया लेने का आरोप
किराए(fare) पर रेलवे ने दिया स्पष्टीकरण
नई दिल्ली
। श्रमिक एक्सप्रेस में प्रवासियों से किराया (fare) वसूलने की आलोचना झेल रहे रेलवे ने सोमवार को स्पष्टीकरण दिया है। रेलवे का कहना है कि वह यात्रा पर कुल लागत का मात्र 15 प्रतिशत वसूल कर रहा हैै। रेलवे का कहना है कि यह एक मानक किराया (fare) है। रेलवे ने एक बयान में कहा हेै कि यह आरोप एकदम सरासर गलत है कि वह प्रवासियों से पैसा ले रहा है। वह केवल राज्यों द्वारा प्रदत्त सूची के आधार पर प्रवासियों को यात्रा करवा रहा है और किसी भी यात्री को टिकट नहीं बेचा जा रहा हैै। रेलवे का कहना है कि सभी कोच में से मिडिल बर्थ हटा दी गई है और वह प्रत्येक कोच में बर्थें खाली रखते हुए श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला रहा है। साथ ही प्रवासी यात्रियों को एक समय का भोजन और पानी की सुविधा भी मुहैया करवा रहा है। इसलिए रेलवे पर किराया (fare) वसूलने का आरोप सरासर गलत है।
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी तथा पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विभिन्न विपक्षी दलों ने श्रमिक एक्सप्रेस में रेलवे द्वारा किराया वसूल करने के फैसले की आलोचना की थी। श्रीमती सोनिया गांधी ने तो यहां तक कह दिया कि कांग्रेस पार्टी की सम्बधित राज्य की इकाई श्रमिकों की टिकटों का समस्त खर्च उठाएगी। राहुल गांधी ने कहा था कि रेलवे एक तरफ तो 151 करोड़ रुपए पीएम कैयर्स फण्ड में जमा करवा रहा है, दूसरी तरफ प्रवासी यात्रियों से किराया वसूल रहा है। माकपा के सीताराम येचूरी ने भी रेलवे की ओर से किराया वसूलने की आलोचना की है। येचूरी ने कहा कि पिछले दो महीनों से मजदूरों की कमाई नहीं हुई। ऐसे में उनसे किराया (fare) वसूलने की नीति ठीक नहीं है।उन्होंने यह निर्णय वापस लेने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here