अब दिल्ली सिर्फ इलेक्ट्रिक ट्रेन

0
13

नई दिल्ली। इस साल के अंतिम दिन यानि 31 दिसम्बर के बाद दिल्ली की तरफ वो ही ट्रेन आ जा सकेगी जिसका विद्युत इंजन होगा। अर्थात दिसम्बर 2019 तक दिल्ली आने-जाने वाली सभी रेलगाड़ियां इलेक्ट्रिक ट्रेन होगी। उच्च पदस्थ रेलवे अधिकारियों ने बताया कि इस कदम से ईंधन का बिल कम होगा, सुरक्षा बढ़ेगी और इलेक्ट्रिक ट्रेन की गति भी बढ़ जाएगी। आयातित ईंधन पर निर्भरता कम करने और राजस्व की बचत के लिए सितंबर 2018 में मं़िमण्डल की बैठक में सभी मंत्रियों ने अगले चार सालों में भारतीय रेलवे के पूर्ण विद्युतीकरण के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी थी। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने संवाददाताओं को बताया, दिसंबर 2019 से दिल्ली आने वाली सभी ट्रेनों को विद्युत के जरिए संचालित किया जाएगा। करीब 650 ट्रेनें रोजाना दिल्ली से आरंभ, समाप्त होती है या यहां से होकर गुजरती है। हर दिन करीब 12 लाख यात्रियों का आवाजाही होती है। अगले साल 2020 की पहली जनवरी से दिल्ली सेे केवल इलेक्ट्रिक ट्रेन संचालित की जाएगी। इसका कम प्रदूषण होगा और दिल्लीवासियों को राहत मिलेगी।

118 जोड़ा रेलगाड़ियों की पहचान

रेलवे ने ऐसी 118 जोड़ी रेलगाड़ियों की पहचान की है जो दिल्ली होकर गुजरती है और उनमें डीजल ईंधन का इस्तेमाल किया जाता है। पहचान करने के बाद रेलवे चरणबद्ध तरीके से इन ट्रेनों के इंजन को बदलेगा। इनमें डीजल इंजन हटाकर इलेक्ट्रिक इंजन लगाया जाएगा। पहले चरण में 39, दूसरे चरण में 50 और तीसरे चरण में 19 जोड़ी रेलगाड़ियों को इलेक्ट्रिक इंजन से चलाने की योजना बनाई गई है। रेलवे ने ग्वालियर, बठिण्डा, जाखल, भिवानी, मुरादाबाद, लखनउ,गोरखपुर, मुजफ्फरपुर और समस्तीपुर में इंजन को बदलने की आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

चूरू स्टेशन पर जल्द लगेगी स्वचालित सीढिया

बीकानेर। चूरू रेलवे स्टेशन पर स्वचालित सीढियों का निर्माण जल्द ही शुरू होगा। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबन्धक के मुताबिक गुरुवार को चूरू सांसद राहुल कस्वा ने सीढियों के निर्माण को लेकर भूमि पूजन किया। इस मौके पर वरिष्ठ मंडल वाणिज्यक प्रबन्धक जितेन्द्र मीणा, एलसी सुथार, सहित अनेक अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here