दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन (yellow line)चार घंटे तक रही ठप

0
8

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन (yellow line पर मंगलवार को तकनीकी खराबी आने की वजह से सेवा करीब चार घंटे तक बाधित रहने के बाद चालू हो गई। येलो लाइन (yellow line) की इस सेवा के बाधित रहने की वजह से इस कारण हजारों यात्री सड़कों पर फंस गए और गुडग़ांव से नई दिल्ली आने वाले सभी रास्तों पर यातायात जाम लग गया। येलो लाइन (yellow line) दिल्ली के समयपुर बादली को हरियाणा के हुडा सिटी सेंटर से जोड़ती है।

तार टूटने से विद्युत आपूर्ति रुकी

डीएमआरसी के अधिकारियों ने बताया कि गुडग़ांव और दिल्ली के बीच रास्ते में स्थित सुल्तानपुर स्टेशन पर ऊपर से जा रहे तार (ओवर हेड वायर या ओएचई) के टूटने की वजह से बिजली आपूर्ति रूक गई।49 किलोमीटर लंबी लाइन पर सुबह नौ बजकर करीब 32 मिनट पर सेवा बाधित हुई और डेढ़ बजे तक सेवा बहाल नहीं हो सकी थी।

सड़कों पर अफरा-तफरी

राष्ट्रीय राजधानी को गुडग़ांव से जोडऩे वाली लाइन पर सेवा प्रभावित होने से सड़कों पर अफरा तफरी मच गई। कुछ लोग कुतुब मीनार स्टेशन पर ट्रेन से उतरकर पटरियों पर चलने लगे तो कुछ डिब्बों में फंस गए। वे ट्वीट करके वातानुकूलन चालू करने की मांग कर रहे थे। इस वजह से कई लोग अपने दफ्तर नहीं जा सके तो कई देर से कार्यालय पहुंचे। एक महिला ने एक कार से लिफ्ट ली। उसने बताया कि उसे एम्स पहुंचना है क्योंकि कई महीनों के बाद उसे एमआरआई कराने के लिए समय दिया गया है।

कैब ने बढ़ाया किराया

मेट्रो की सेवा के खराब होने से रेडियो कैब और ऑटो ने किराया बढ़ा दिया। वहीं जिन लोगों के पास खुद की गाड़ी थी उन्हें जाम ने परेशान किया। दो घंटे से ज्यादा वक्त यातायात जाम लगा रहा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत से रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने ट्विटर पर कहा, मैंने परिवहन मंत्री से विस्तृत रिपोर्ट लेने तथा इसकी जिम्मेदारी तय करने के लिए दिल्ली मेट्रो को निर्देश देने को कहा है। कई यात्रियों ने सोशल मीडिया पर अपने गुस्से का इज़हार किया। एक अनुमान के मुताबिक, रोजाना करीब आठ लाख लोग येलो लाइन का इस्तेमाल करते हैं।

सेवा हुई बहाल

डीएमआरसी ने ट्वीट किया कि सामान्य सेवा अब बहाल हो गई है। असुविधा के लिए खेद है। अधिकारियों ने पहले बताया था कि शुरू में हुडा सिटी सेंटर और सुल्तानपुर के बीच तथा समयपुर बादली एवं कुतुब मीनार के बीच ट्रेनों को अस्थाई तौर पर चलाया गया। सुबह के समय में सुल्तानपुर और कुतुब मीनार के बीच कोई ट्रेन नहीं चल रही थी। उन्होंने बताया कि उस वक्त उस खंड से गुजर रही दोनों ट्रेनों के यात्रियों को ट्रेन से उतार लिया गया और छोटी दूरी के लिए ट्रेनें चलाकर सेवा को शुरू किया गया।

टुकड़ों में चलाया मेट्रो को

डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, डीएमआरसी तकनीशनों की दो टीमों ने समस्या को ठीक करने के लिए काम किया। पहले ट्रेनों को सीमित गति से छतरपुर और कुतुब मीनार स्टेशनों के बीच चलाया गया। इन टीमों में 16 अधिकारी शामिल थे। करीब साढ़े तीन घंटे बाद, यातायात आंशिक रूप से बहाल हुई और ट्रेनों को कुतुब मीनार और सुल्तानपुर बीच चलाया गया। इसके बाद सामान्य सेवा बहाल हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here