budget for railway : जून 2022 तक पूरे होंगे दो फ्रेटकोरिडोर

-रेलवे के लिए बजट (budget for railway)  में वित्त मंत्री की घोषणा
-रेल संदेश ब्यरो-
नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में रेलवे (budget for railway)  के लिए खासी घोषणाएं की हैं। इनमें समर्पित माल ढुलाई गलियारे को देश के उद्योग जगत के लिए मील का पत्थर बताया गया है। वित्त मंत्री ने रेलवे के लिए बजट (budget for railway)  कहा कि जून 2022 तक वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कोरिडोर पश्चिमी समर्पित मालढुलाई गलियारा और ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कोरिडोर (eastern dfc पूर्वी समर्पित मालढुलाई गलियारे) को पूरा कर लिया जाएगा। वित्त मंत्री ने कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ पहल को बढ़ावा देने में हमारे उद्योग जगत की सहायता के लिए मालढुलाई की लागत में कमी लाई जाएगी। पूर्वी मालढुलाई गलियारे के सोनानगर – गोमोह खंड (263.7 किलोमीटर) को सार्वजनिक निजी भागीदारी के तहत 2021-22 तक शुरु किया जाएगा। 274.3 किलोमीटर का गोमोह -दनकुनी खंड भी कुछ समय के बाद प्रारंभ हो जाएगा। भविष्य के लिए समर्पित कई मालढुलाई गलियारे शुरु होंगे। इनमें से ईस्ट कोस्ट (east coast dfc पूर्वी तटीय गलियारा) खड़गपुर से विजयवाड़ा तक, ईस्टर्न-वेस्टर्न (eastern-western dfc पूर्वी-पश्चिमी गलियारा) भुसावल से खड़गपुर होते हुए दनकुनी तक जाएगा तथा उत्तरी-दक्षिणी (north-southern dfc नोर्थ-साउथर्न गलियारा)  इटारसी से विजयवाड़ा तक होगा। विस्तृत परियोजना रिपोर्ट पहले चरण में प्रस्तुत की जाएगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रेलवे के लिए बजट (budget for railway)  कहा कि दिसंबर, 2023 तक ब्रॉडगेज रेलमार्गों का शत-प्रतिशत विद्युतीकरण कर दिया जाएगा। 2021 के अंत तक 72 प्रतिशत लगभग 46 हजार ब्रॉडगेज रुट किलोमीटर – आरकेएम के विद्युतीकरण का काम पूरा कर लिया जाएगा। पहली अक्टूबर, 2020 तक 41,548 ब्रॉडगेज रुट किलोमीटर का विद्युतीकरण पूरा किया जा चुका है।