रेल कर्मचारियों के बच्चों का बेबी शो

0
11

बीकानेर। रेलवे परिवार कल्याण विभाग तथा उत्तर पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन के संयुक्त संयोजन में आज रेल कर्मचारियों (railway employes) के बच्चों के लिए बेबी शो आयोजित किया गया। इस शो में नन्हें बच्चोंके स्वास्थ्य की जांच की गई। उत्तर पश्चिम रेलवे ऑडिटोरियम में आयोजित इस बेबी शो में 0 से 14 वर्ष की आयु तक के बच्चों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। शो में रेलवे के चिकित्सा विशेषज्ञों ने रेल कर्मचारियों (railway employes) व उपस्थित सभी बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की। रेलवे परिवार कल्याण विभाग तथा उत्तर पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मीरा दूबे ने की। महिला कल्याण संगठन रेल कर्मचारियों (railway employes) के कल्याण के लिए समय-समय पर ऐसे कार्यक्रम आयोजित करता रहता है।

तीन बातें रखें याद

कार्यक्रम में बीकानेर मंडल रेल प्रबंधक अनिल कुमार दूबे ने कहा कि बालक के विकास में तीन बातें ध्यान में रखने योग्य हैं- शिशु के जन्म से 6 माह तक केवल माता का दूध दिया जाना जितना जरूरी है,उतना ही पौष्टिक भोजन तथा समय पर टीकाकरण। रंगबिरंगी वेशभूषा में उपस्थित बच्चों के साथ मण्डल रेल प्रबंधक ने सीधा संवाद किया और उनकी तुतलाहट भरी आवाज में कविताएं व गीत सुने। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ एम.एल.मीणा ने कहा कि शिशु को स्तनपान एवं समय पर टीकाकरण की जिम्मेजदारी मां की है,जिसे अपने खुद के स्वास्थ्य का भी ध्याान रखना है। उन्होंने बताया कि जच्चा-बच्चा मृत्यु दर विकासशील देशों में अधिक है। साथ यह भी दावा किया कि यदि शिशुओं की उचित देखभाल की जाए तो प्रत्येक 4 मौतों में से 3 को रोका जा सकता है। कार्यक्रम में विभिन्न आयु वर्ग के 16 विजेता बच्चों को पुरस्कार वितरित किया। निर्णायक मंडल में स्वाति पारीक एवं स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्व विद्यालय की व्याख्याता विमला डुकवाल थी। कार्यक्रम की अध्यक्ष मीरा दूबे ने सभी का आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here