railway minister: जोधपुर के हैं नए रेल मंत्री अश्विनी वैष्‍णव, कार्यभार सम्भाला

railway minister Ashwini Vaishnav

-रेल संदेश ब्यूरो-
नई दिल्ली। मोदी सरकार में नए मंत्रिमण्डल के विस्तार में नए रेल मंत्री (railway minister) की जिम्मेदारी आईएएस अधिकारी रहे अश्विनी वैष्णव को सौंपी गई है। नए रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सचिव रह चुके हैं। रेल मंत्री (railway minister) अश्विनी पहली बार कैबिनेट में शामिल हुए हैं। बुधवार को उन्होंने रेल मंत्री (railway minister) के तौर पर शपथ लेने के बाद 8 जुलाई को रेल मंत्रालय का कार्यभार संभाल लिया। कार्यभर सम्भालने के बाद उन्होंन ट्वीट कर लिखा, “आज रेल मंत्री के तौर पर मैने कार्यभार संभाल लिया। इतनी बड़ी जिम्मेदारी सौंपने के लिए मैं पीएम मोदी का दिल से धन्यावद व्यक्त करता हूं।” अश्विनी वैष्‍णव मूलरूप से नाडोल के पास जीवंद कला हाल जोधपुर निवासी एडवोकेट दाऊलाल वैष्णव के पुत्र है।

railway minister Ashwini Vaishnav 01

अश्विनी वैष्णव 1994 बैच के आईएएस अधिकारी थे। सिविल सर्विस परीक्षा में उनकी ऑल इंडिया लेवल पर 27वीं रैंक आई थी। इसके बाद उन्होंने ओडिशा के बालासोर और कटक जिले के डीएम के तौर पर काम किया था। वे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के ऑफिस में डिप्टी सेक्रेटरी की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। यहां उन्होंने इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप का खाका तैयार किया था। इसके बाद जब अटल जी की सरकार चली गई, तब वैष्णव उनके निजी सचिव के तौर पर काम देखने लगे थे। फिर 2006 में उन्हें मोरमुगाओ पोर्ट ट्रस्ट के डिप्टी चेयरमैन के तौर पर काम दिया गया था।
दो साल तक इस पद पर काम करने के बाद वैष्णव एमबीए की डिग्री लेने पेनसिलवानिया यूनिवर्सिटी चले गए। भारत वापसी के बाद उन्होंने ळम् ट्रांसपोर्टेशन कंपनी में मैनेजिंग डायरेक्टर के तौर पर काम किया। कुछ और कंपनियों में भी वह रहे, लेकिन आखिर में 2012 में उन्होंने कॉरपोरेट सेक्टर छोड़ दिया। इसके बाद उन्होंने गुजरात में दो कंपनियां स्थापित कीं। इन कंपनियों का काम ऑटोमेटिव कम्पोनेंट्स की मैन्युफैक्चरिंग करना था।