agitation : डीआरएम कार्यालय पर रेलकर्मियों ने लगाए नारे

-कर्मचारियों ने किया विरोध प्रदर्शन (agitation)
-रेल संदेश डेस्क-
बीकानेर। आल इण्डिया रेलवे मैन्स फेडरेशन (airf)  के आह्वान पर पूरे देश मे 01 जनवरी से 15 जनवरी तक संघन अभियान पखवाड़ा (agitation) मनाया जा रहा है। इसी क्रम मे नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन (nwreu)  के चारो मंडल बीकानेर, जयपुर, अजमेर,जोधपुर के सभी मंडल कार्यालयो, स्टेशनों ओर उपमंडलों मे सरकार की श्रम विरोधी काले कानून और नीतियों के खिलाफ कर्मचारियों मे भारी रोष के साथ विरोध (agitation) कर रहे है। आज 8 जनवरी को को नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन (nwreu)  के जोनल अध्यक्ष अनिल व्यास की अगवाई मे मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के मैन गेट पर रेल कर्मचारियों ने विरोध (agitation) किया और ओल्ड पेंशन स्कीम (ओपीएस) को चालू करने और न्यू पेंशन स्कीम ( एनपीएस) को बंद करने के साथ रेल निजीकरण के विरोध में नारे लगाए।
इस अवसर पर अनिल व्यास ने कहा देश की स्थिति बड़ी गम्भीरर है। सरकारी तंत्र को कुछ पूंजीपतियों ने अपने हाथ मे लेने के लिए सरकार पर अपना दबाव बना लिया है। आज जब देश मे सभी आवागमन के लिए परिवहन के समस्त साधनो को खोल दिया है, एक मात्र रेल को चालू नही किया है। जबकि यह देश के लिए अतिआवश्यक है। कोविड का सहारा लेकर इसे निजी हाथों मे देने का पूरा खाका तैयार कर रही है अगर सरकार ने इस विषय मे कोई कर्मचारी विरोधी निर्णय लेती है और प्राइवेट ट्रेनों का संचालन करती है तो ऑल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन के बैनर तले इसका पुरजोर विरोध होगा जिसके लिए कर्मचारियो ने कमर कसली है। रेल का निजीकरण कर्मचारियों को कतई बर्दाश नही।
शाखा सचिव बीकानेर ब्रजेश ओझा ने सभी कर्मचारियों को संगठित होकर आने वाली चुनौतियों के लिए तैयार रहने के लिए कहा सरकार अगर अपनी हठधर्मिता से बाज नही आई और कोई भी कर्मचारीयो के विरुद्ध कोई फैसला लिए और रेल निजीकरण का कुछ भी प्रयास किया तो भविष्य मे कर्मचारी भी हर संघर्ष के लिए तैयार है। आज मंडल कार्यालय मे कोविड की आड़ मे कर्मचारियों की कई मांगो पर प्रशासन चुपी साधे हुए है। इससे कर्मचारियों मे भारी रोष है। अगर मंडल रेल प्रबंधक और संबंधित अधिकारियों ने यूनियन की लंबित मांगो को समय रहते पूरा नही किया गया तो अति शीघ्र ही अधिकारियों का घेराव किया जायेगा। शाखा सचिव लालगढ गणेश वशिष्ठ ने युवा कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा ओल्ड पेंशन स्कीम हमारा हक है इसे हम हर हाल मे लेकर रहेंगे। सभी इस के लिए तैयार रहे। यदि अब भी हम नही जगेगें तो आज पहली डेडिकेटेड फ्रेट मालगाडी चली है भविष्य में सवारी गाड़ी भी चलने की तैयारी की जा रही है। शाखा सचिव वर्कशाप दिनेश सिह ने कहा कि पुरानी पेन्शन स्कीम से ही युवा साथियो का भविष्य सुरक्षित है। समय रहते अगर इसे बहाल नही किया तो युवा कर्मचारी इसके लिए एक बडा आंदोलन करेगें।
इस प्रदर्शन मे विजय श्रीमाली , मोहम्मद सलीम कुरैशी, दिनेश सिंह ,आनन्द मोहन , मुस्ताक अली, दीनदयाल, सोंनु कुमार, भैरू रतन पुरोहित, नोरतम शर्मा, जितेंद्र, पवन,धर्मेंद्र, राजेंद्र चंदेला,बसन्तक नायक, विजयपाल, प्रदीप चैधरी, मोहम्मरद उमर, सोहन लाल, मांगीलाल, लक्ष्मण, खेमचन्दा, लोकपाल, शिवलाल, नन्द किशोर, लक्ष्मण जाखड, अलताफ खान, कैलाश सोलंकी, मनोज रावत, प्रदीप चैहान, अमित कुमार, अरूण कुमार, जगदीश, किशन, सुरेश, पवन कुमार, श्रीराम, शशिकान्त, निरजंन, सुरेन्द्र लील, किशन रामावत, शिवानन्द, विकास शर्मा, राकेश, किशन, अमित सोलंकी, भीम सिंह, विकास मारू, शकंर तेतरवाल, सुरज किरण, मुकुल, राहुल, ललित, शशि मोहन, सेवानिवृत मोहम्मवद हसन,लालचन्दा ईनखिया,रवि शकंर पाण्डेे, आदि बहुत से कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया।