समुद्र के अंदर सुरंग में दौड़ेगी बुलेट ट्रेन

0
71
bullet-train-under-water-tunnel

मुम्बई। देशवासियों को पहली बुलेट ट्रेन (bullet train) का इंतजार है। देश की इस पहली बुलेट ट्रेन में अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना में देश की जनता को इस बात की उत्सुकता है कि प्रथम बुलेट ट्रेन कैसी होगी। इसमें कौन-कौन सी सुविधाएं होंगी। इस परियोजना पर तेजी से काम हो रहा है। इसके वर्ष २०२२ तक पूरी होने की सम्भावना है। जापान इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए फंड मुहैया करवा रहा है। पहली  बुलेट ट्रेन मुम्बई-अहमदाबाद के बीच दौड़ेगी। बुलेट ट्रेन (bullet train) लगभग 320 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ेगी। इसमें कई विशेष सुविधाएं दी जाएंगी और ऐसा माना जा रहा है कि  ऐसी सुविधाएं भारत में चलने वाली किसी अन्य ट्रेन में अभी तक नहीं दी गई हैं।  भारत की पहली बुलेट ट्रेन (bullet train) के प्रोजेक्ट पर काम पूरे जोर शोर से चल रहा है। नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन  ने हाल ही में पहली बार पानी के नीचे सुंरग के लिए टेंडर निकाला है। 508 किलोमीटर बुलेट ट्रेन ट्रैक का 21 किलोमीटर हिस्सा सुरंग से होकर गुजरेगा। यह हिस्सा महाराष्ट्र में बीकेसी से कल्याण सिल्फाटा के बीच होगा। इस सुरंग के निर्माण में इच्छुक कंपनियों को बोली के लिए आमंत्रित किया गया है। 21 किलोमीटर लंबी सुरंग में से 7 किलोमीटर हिस्सा पानी के नीचे होगा। टेंडर के अनुसार यह निर्माण कार्य आने वाले सालों तीन  साल में पूरा हो जाना चाहिए। रेलवे ने सुंरग के निर्माण के अलावा टेस्टिंग को लेकर भी टेंडर निकाला है। इसमें मुंबई बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स के अंडर ग्राउंड स्टेशन में डबल हाई स्पीड ट्रेन डबल लाइन, टनल बोरिंग मशीन का टेस्ट और ऑस्ट्रेलियाई टनलिंग प्रणाली की टेस्टिंग शामिल है। जापान की इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी ने भारत को बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए बेहद कम ब्याज दर पर लोन दिया है।

मिलेंगे फोल्डेबल बेड्स

बुलेट ट्रेन में फोल्डेबल बेड्स की सुविधा होगी। यह सुविधा अभी तक किसी और ट्रेन में नहीं है  इसके अलावा अलग-अलग काम के लिए इसमें अलग कमरे बनाएं जाएंगे।  रेलवे ने नवजात को फीड कराने के लिए इसमें अलग से कमरों की व्यवस्था की है इसके अलावा बीमार व्यक्तियों के लिए भी कमरों का इस्तेमाल हो सकेगा। सामान रखने के लिए रैक्स मौजूद रहेंगे। सीट के ऊपर फ्लाइट्स की तरह केबिन भी होंगे।  बुलेट ट्रेन में सफर करने के लिए एसी फस्र्ट क्लास के मुकाबले 1.5 गुना ज्यादा किराया देना होगा। 

508 किमी का सफर तय करेगी पहली बुलेट ट्रेन

देश की पहली बुलेट ट्रेन मुंबई से अहमदाबाद के बीच कुल 508.17 किलोमीटर का सफर तय करेगी। इसमें 155.76 किमी महाराष्ट्र, 384.04 किमी गुजरात और 4.3 किमी दादर और नागर हवेली का हिस्सा कवर होगा। मुंबई से अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन के 12 स्टेशन होंगे। मुंबई से शुरू होकर यह ठाणे, वापी, विरार, बोइसर, वडोदरा, बिलीमोरा, सूरत, भरुच, साबरमती, आनंद से होते हुए अहमदाबाद पहुंचेगी।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here