मध्य रेलवे के स्टेशनों पर नीम्बू पानी की बिक्री पर प्रतिबंध

0
10

मुम्बई। मध्य रेलवे (central railway) ने नीम्बू पानी ओर सीरे से बनने वाले ज्यूस की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। मध्य रेलवे (central railway) की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि मध्य रेलवे के क्षेत्र से सम्बद्ध रेलवे स्टेशनों पर नीम्बू पानी और सीरे से बनाए गए ज्यूस को स्वास्थ्य के लिए घातक बताते हुए इनकी बिक्री पर रोक लगाई जाती है। दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था। इस वीडियो मे एक यात्री ने कूर्ला स्टेशन के प्लेटफार्म पर नीम्बू पानी बनाने वाला गंदे पानी का इस्तेमाल कर रहा था। वह दुकानदार खानपान स्टाल के पास ही एक टैंक से पानी लेकर नीम्बू पानी तैयार कर रहा था। इस वीडियो में स्पष्ट दिखाई दे रहा था कि ज्यूस और नीम्बू पानी बनाते समय साफ-सफाई का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा जा रहा था। वीडियो बनाने वाले इसकी क्लिप वायरल कर दी, साथ ही इसे मध्य रेलवे (central railway) के ट्विटर हैंडल को इसे टैग कर दिया था। इसके बाद मध्य रेलवे के अधिकारियो ने हरकत में आते हुए सबसे पहले सभी स्टेशनों का सर्वे किया। कूर्ला स्टेशन पर नीम्बू पानी बनाने वाले को हटा दिया गया। मध्य रेलवे के मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि अब मध्य रेलवे के स्टेशनों पर नीम्बूू पानी और कृत्रिम स्वाद वाले अन्य ज्यूस की बिक्री नहीं की जा सकेगी। कुमार ने बताया कि आज से ही लागू ये प्रतिबंध ताजे फलों से तैयार रस की बिक्री पर लागू नहीं होंगे।

प्रतिबंध का विरोध

मध्य रेलवे की ओर से नीम्बू पानी की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का विरोध शुरू हो गया है। बड़ी संख्या में लोगों ने मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एवं अन्य उच्चाधिकारियों को पत्र भेजकर इसका विरोध किया है। यात्रियों का कहना है कि रेलवे अधिकारी अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे हैं। बजाय उनपर निगरानी के वैण्डरों को हटा देना, रेलवे की काम से भागने की प्रवृति दिखलाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here